रुक्मणी द्वादशी के साथ बन रहा है हर्षण योग, राशिनुसार ये उपाय करने से होगी सुख-समृद्धि

आज वैशाख शुक्ल पक्ष की उदया तिथि एकादशी और सोमवार का दिन है। एकादशी तिथि आज सुबह 6 बजकर 13 मिनट तक रहेगी। उसके बाद द्वादशी तिथि शुरू हो जायेगी। आज उदया तिथि एकादशी होने की वजह से वैष्णव लोग आज मोहिनी एकादशी का व्रत करेंगे| आज परशुराम द्वादशी है। आज के दिन को रुक्मिणी द्वादशी के नाम से भी जाना जाता है। कहते हैं इसी दिन देवी रुक्मिणी का अविर्भाव हुआ था। इसके अलावा आपको ये भी बता दूं कि आज की द्वादशी कोई सामान्य द्वादशी नहीं है, बल्कि ये महाद्वादशी है। दरअसल कुल आठ प्रकार की द्वादशी होती हैं- जया, विजया, जयन्ती, पापनाशिनी, उन्मीलिनी, वंजुलिनी, त्रिस्पृशा और पक्षवर्धिनी, जिनमें से आज त्रिस्पृशा महाद्वादशी है। 

आज के दिन भगवान विष्णु के मधुसूदन रूप की पूजा भी की जाती है। इस दिन भगवान की पूजा में तांबे के पात्र का महत्व बताया गया है। अगर संभव हो तो आज के दिन भगवान को फल-फूल, प्रसाद आदि चीज़ें तांबे के पात्र में रखकर ही अर्पित करनी चाहिए। वैशाख शुक्ल पक्ष की द्वादशी तिथि समस्त पापकर्मों का नाश करने वाली मानी जाती है। इस दिन योग्य पात्र को अन्न दान करने से करोड़ों ब्राह्मण को भोजन के समान पुण्य प्राप्त होता है। अतः इस दिन कुछ न कुछ दान अवश्य करना चाहिए। कोरोना के चलते ऐसा करना संभव नहीं है। लिहाजा आज आप दान करने का संकल्प ले लें और जब स्थिति पूरी तरह ठीक हो जाये तब दान कर दें। 

आज शाम 7 बजकर 19 मिनट तक उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र रहेगा। गिनती के आधार पर ये 27 में से बारहवां नक्षत्र है। ‘उत्तरा फाल्गुनी’ का अर्थ है ‘बाद का लाल नक्षत्र’। इसके स्वामी सूर्यदेव हैं और इस नक्षत्र का पहला चरण सिंह राशि में आता है, जबकि इसके बाकी तीन चरण कन्या राशि में आते हैं। अतः सिंह और कन्या राशि पर उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र का पूरा प्रभाव रहता है। इस नक्षत्र का प्रतीक चिन्ह विश्राम के लिए प्रयोग की जाने वाली चारपाई अथवा बेड के पिछले दो पायों को माना जाता है, लेकिन उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र विश्राम की प्रारंभिक स्थिति को न दर्शाकर विश्राम की अंतिम तथा हल्की स्थिति को दर्शाता है। उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र का संबंध पाकड़ के पेड़ से बताया गया है। कहीं-कहीं पर स्थानीय भाषा में इस पेड़ को पकड़िया के नाम से भी जाना जाता है। जिन लोगों का जन्म उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र में हुआ है या जिनके नाम का पहला अक्षर ‘ट’ या ‘प’ है, उन लोगों को आज के दिन पाकड़ के पेड़ का ध्यान करके उसे प्रणाम करना चाहिए। इसके अलावा आज पूरा दिन पार करके अगले दिन यानी 5 मई की भोर 4 बजकर 44 मिनट तक हर्षण योग रहेगा। हर्षण का अर्थ होता है खुशी, प्रसन्नता। अत: इस योग में किए गए कार्य हर तरह से खुशी ही प्रदान करते हैं।

आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसार आज रात 8 बजकर 4 मिनट पर मंगल देव कुम्भ राशि में प्रवेश करेंगे और 18 जून की रात 8 बजकर 14 मिनट तक यही पर गोचर करते रहेंगे।

यह भी पढ़े: मासिक अंकज्‍योतिष मई 2020 : इस महीने कुछ मूलांको को मिल सकती है बेहद खास खुशखबरी

आज हर्षण योग, उत्तराफाल्गुनी नक्षत्र, मधुसूदन द्वादशी और रुक्मिणी द्वादशी में किये जाने वाले राशिवार उपायों की।  आचार्य इंदु प्रकाश के अनुसारआप कौन-से विशेष उपाय करके अपने जीवन को सुख-समृद्धि से भर सकते हैं, अपने कार्यों में आ रही रुकावटों से छुटकारा पा सकते हैं, अपनी सोच को मजबूत कर सकते हैं, ज्ञान के क्षेत्र में अपने आपको ऊंचा उठा सकते हैं, अपने परिवार के मांगलिक कार्यों को सफल बना सकते हैं, अपने मन की दुविधा को दूर कर सकते हैं और अपने जीवन में बुराईयों का समाप्त कर सकते हैं।

मेष राशि
अगर आपके बच्चे आपकी बातों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते और उसके चलते आप थोड़े परेशान रहते हैं, तो आज के दिन थोड़ा-सा केसर लेकर, पहले भगवान श्री विष्णु को तिलक लगाएं, फिर ‘ऊँ नमो भगवते नारायणाय’ बोलते हुए अपने बच्चे को केसर का तिलक लगाएं। आज के दिन ऐसा करने से आपका बच्चा आपकी बातों पर ध्यान देगा और धीरे-धीरे करके आपकी परेशानी भी कम होगी। 

वृष राशि
अपने दाम्पत्य जीवन में मधुरता लाने के लिये आज के दिन स्नान आदि से निवृत्त होकर भगवान विष्णु की विधि-पूर्वक पूजा करें। उसके बाद केले के वृक्ष कि तस्वीर के आगे अपने सुखी दाम्पत्य जीवन के लिये कुछ देर शांत मन से केले के वृक्ष में भगवान का ध्यान करें। आज के दिन ऐसा करने से आपके दाम्पत्य जीवन में मधुरता आयेगी।

मिथुन राशि
अपने पारिवारिक जीवन में खुशहाली लाने के लिये आज के दिन पीले फूल भगवान विष्णु को चढ़ाएं। साथ ही भगवान को चन्दन का तिलक लगाएं।आज के दिन ऐसा करने से आपके पारिवारिक जीवन में खुशहाली बनी रहेगी। 

यह भी पढ़े: पंचांग भेद होने के कारण 3 और 4 मई को किया मोहिनी एकादशी व्रत। जानिए क्या करे क्या न

कर्क राशि
अगर आप खुद को हर मायनों में परफेक्ट बनाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको श्री माधव के इस मंत्र का जप करना चाहिए। मंत्र है –
ऊँ मधुसूदनाय नमः।  इस प्रकार मंत्र जप करने के बाद भगवान को एक पुष्प भी अर्पित करें। ऐसा आपको 11 बार करना है, यानी हर बार मंत्र पढ़ने के बाद भगवान को पुष्प अर्पित करें।आज के दिन ऐसा करने से आप हर तरह से परफेक्ट होंगे।

सिंह राशि
अपने करियर की बेहतरी के लिये, अपने आपको एक ऊंचे मुकाम तक पहुंचाने के लिये आज के दिन भगवान विष्णु को माखन, मिश्री का भोग लगाएं और श्री विष्णु की मूर्ति या तस्वीर के आगे बैठकर ‘ऊँ नमो भगवते नारायणाय’ मंत्र का 108 बार जाप करें। आज के दिन ऐसा करने से आपके करियर की बेहतरी होगी और आप एक ऊंचे मुकाम तक पहुंचेंगे।

कन्या राशि

अगर आप अपने बिजनेस में बढ़ोतरी करना चाहते हैं, तो आज के दिन सुबह नहाते समय पानी में एक चुटकी हल्दी डालकर स्नान करें फिर पीले वस्त्र पहनकर भगवान विष्णु की विधि-पूर्वक पूजा करें और प्रसाद के रूप में भगवान को गुड़ से बने पीले मीठे चावल का भोग लगाएं। साथ ही भगवान से हाथ जोड़कर अच्छे बिजनेस की प्रार्थना करें। ……. आज के दिन ऐसा करने से आपके बिजनेस में निश्चित रूप से बढ़ोतरी होगी। 

तुला राशि
अगर आपकी कोई विशेष इच्छा है, जिसे आप जल्द से जल्द पूरी करना चाहते हैं, तो आज के दिन अपनी किसी विशेष इच्छा की पूर्ति के लिये आज के दिन एक साफ पीले रंग का छोटा-सा कपड़ा लें। फिर उस कपडे के चारों ओर किनारे पर एक चमकीले रंग का गोटा लगाएं और श्री हरि के सामने रख दें। साथ ही भगवान से अपनी इच्छा की पूर्ति के लिये प्रार्थना करें। इससे आपकी जो भी इच्छा होगी, वह जरूर पूरी होगी। 

वृश्चिक राशि
अगर आप अपने काम में निपुणता और जीवन में उचित मान–सम्मान पाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको सुबह स्नान आदि के बाद श्री कृष्ण भगवान के आगे घी का दीपक जलाना चाहिए और उन्हें मिश्री का भोग लगाना चाहिए। भोग लगाने के बाद बची हुई मिश्री को प्रसाद के रूप में परिवार के सब सदस्यों में बांट दें और स्वयं भी थोड़ा-सा प्रसाद जरूर ग्रहण करें। …… आज के दिन ऐसा करने से आपके काम में निपुणता और जीवन में उचित मान-सम्मान मिलेगा। 

धनु राशि
अगर आप अपने दाम्पत्य जीवन में प्यार और विश्वास बनाये रखना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको श्री विष्णु और माता रुक्मिणी का ध्यान करते हुए इस मंत्र का 21 बार जप करना चाहिए। मंत्र है -ऊँ नमो भगवते रुक्मिणी वल्लाभाय स्वाहा। 
इस प्रकार आज के दिन मंत्र जप करने से आपके दाम्पत्य जीवन में प्यार और विश्वास बना रहेगा। 

मकर राशि
जीवन में अपनी उन्नति के लिये आज के दिन अपने स्नान के पानी में थोड़ा-सा गंगाजल और कुछ तिल के दाने मिलाकर स्नान करें। इसके बाद साफ कपड़े पहनकर भगवान विष्णु की धूप-दीप आदि से विधि-पूर्वक पूजा करें और भगवान का आशीर्वाद लें। इससे आपके जीवन की उन्नति सुनिश्चित होगी। 

कुंभ राशि
अगर अपने जीवनसाथी के साथ रिश्ते में मजबूती लाने के लिये आज के दिन भगवान श्री विष्णु की विधि-पूर्वक पूजा करने के बाद श्री विष्णु गायत्री मंत्र का जाप करें। श्री विष्णु गायत्री मंत्र इस प्रकार है-  ‘ऊँ नारायणाय विद्महे वासुदेवाय धीमहि तन्नो विष्णु प्रचोदयात्।।‘ आज के दिन इस मंत्र का 11 बार जाप करने से जीवनसाथी के साथ आपके रिश्ते में मजबूती आयेगी। 

मीन राशि
अगर आप आर्थिक रूप से अपनी स्थिति को मजबूत करना चाहते हैं, तो आज के दिन तुलसी के पौधे में जल में थोड़ा दूध मिलाकर अर्पित करें और दोनों हाथों से तुलसी की जड़ को छूकर आशीर्वाद लें। आज के दिन ऐसा करने से आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होगी।