76 दिन बाद महाकाल मंदिर के गेट खुले, धरा रह गया सोशल डिस्टेंस

महाकाल मंदिर (Mahakal Temple) के पट आम लोगों के लिए खुलते ही भीड़ जमा होने लगी. दर्शन के दौरान सोशल डिस्टेंस (Social Distance) नहीं दिखा. कुछ लोग बिना मास्क (Mask) के पहुंचे और रोकने पर मंदिर समिति के लोगों से भिड़ गए. मनाही के बाद भी मंदिर में सेल्फी लेने की होड़ मची रही.

भक्त मंदिर खुलने के 1 घंटे पहले सुबह 5 बजे से ही लाइन में लगना शुरू हो गए थे.. दर्शन हर रोज 7 स्लॉट में होना है और हर स्लॉट में 500 – 500 श्रद्धालुओं को प्रवेश दिया जाएगा. मंदिर समिति ने काफी इंतज़ाम किए थे. लेकिन भक्तों की भीड़ ने कोरोना गाइड लाइन की धज्जियां उड़ा दीं.

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

वैक्सीन सर्टिफिकेट या कोरोना जांच रिपोर्ट

हर रोज 3500 श्रद्धालु वैक्सीन सर्टिफिकेट या कोरोना जांच की 48 घंटे पहले की नेगेटिव रिपोर्ट दिखाने के बाद ही प्रवेश कर सकेंगे. दर्शन करने प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव भी परिवार के संग पहुंचे. उन्होंने कोविड नियंत्रण होने के बाद बाबा को धन्यवाद दिया. साथ ही डेल्टा वेरियंट के खतरे को देखते हुए प्रशासन और मंदिर समिति ने गाइड लाइन के सख्ती से पालन करवाने के स्पष्ट निर्देश दिए हैं.

लेकिन गाइडलाइन का पालन नहीं

उज्जैन कलेक्टर और मंदिर प्रशासन समिति का सख्त आदेश था कि कोरोना गाइड लाइन का पालनहो . सोशल डिस्टेंस और मास्क का पालन हो. मंदिर में सेल्फी लेने की भी सख्त मनाही थी. बिना रिपोर्ट और वैक्सीन सर्टिफिकेट के प्रवेश पर बैन था. लेकिन सभी नियम धरे रह गए.. सुबह से लगी भीड़ में सोशल डिस्टेंस नहीं था. मंदिर परिसर में अपने अपने परिवार के साथ आए श्रद्धालुओं ने जमकर सेल्फी लीं. उन्हें रोकने वाला कोई नहीं था. गेट नंबर चार पर सामान्य दर्शनार्थी और 250 की रसीद वाले श्रद्धालुओं की भीड़ इतनी बढ़ गई कि वैक्सीन सर्टिफिकेट के बिना ही श्रद्धालु मंदिर में प्रवेश कर गए.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

कई श्रद्धालु वैक्सीन सर्टिफिकेट और नेगेटिव रिपोर्ट लाना भूले

सख्त हिदायत के बाद भी कई श्रद्धालुओं ने बात नहीं मानी. वो अपनी रिपोर्ट लेकर नहीं आए. इनमें से कुछ के पास ना तो वैक्सीन सर्टिफिकेट था और ना ही है कोरोना टेस्ट आरटीपीसीआर टेस्ट की नेगेटिव रिपोर्ट. राजस्थान से आई एक युवती ने बताया कि हमे गाइड लाइन का पता नहीं था.. कनाडा से आई महिला ने बताया कि वो 14 दिन से यहीं हैं. दर्शन के लिए रुकी थीं. उत्तर प्रदेश से आये एक युवक ने कहा मैं 2 बजे से लाइन में लगा हूं. ऑनलाइन बुकिंग फुल हो गई थी इसलिए 251 की vip रसीद ली.

पहले ही दिन विवाद

गेट नंबर चार पर गेट खुलने से घंटों पहले ही भीड़ जुटने लगी थी. बीजेपी के कुछ नेता भीड़ को हटाकर मंदिर में प्रवेश करना चाह रहे थे. लेकिन वहां खड़े गार्ड ने उन्हें रोक दिया. इस बात से बीजेपी नेता तिलमिला गए और उन्होंने गार्ड से अभद्रता करना शुरू कर दिया. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतhindi.news18.com
पिछला लेखमंगलवार को करें श्रीहनुमानाष्टक का पाठ, रोग-दोष और भय से मिलेगी मुक्ति
अगला लेखJammu Drone Blast: जम्मू ड्रोन ब्लास्ट का क्‍या है इराक-सीरिया ल‍िंक? NIA करेगी हमले की जांच