मकर संक्रांति पर इन चीजों का दान करने से दूर होगा शनि दोष, करियर में होगा फायदा

मकर संक्रांति यानी सूर्य के उत्‍तरायण होने का पर्व। शास्त्रों में उत्तर दिशा को देव दिशा माना गया है और मकर संक्रांति के दिन जब सूर्य उत्तरायण होकर भ्रमण करना शुरू करते हैं तो इस खास अवसर पर देवलोक का दरवाजा खुल जाता है। ऐसे में पूजा पाठ और गंगा स्नान के साथ साथ दान पुण्य का भी बेहद महत्व है। कहा जाता है कि इस दिन दान करने से जीवन में सुख समृद्धि मिलती है और इस दिन किया गया दान आपको ही सौ गुणा होकर प्राप्त होता है। मकर संक्रांति पर यदि कुछ खास चीजों का दान किया जाए तो न केवल आपके शनिदोष दूर हो जाएंगे बल्कि आपका करियर एक शानदार रफ्तार पकड़ सकता है। आइए जानते हैं कि मकर संक्रांति के अवसर पर क्या क्या दान करना चाहिए।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

खिचड़ी

सबसे पहले बात करते हैं खिचड़ी की। मकर संक्रांति के दिन खिचड़ी खाना भी बेहद महत्व की चीज है। लेकिन अगर आप खिचड़ी दान करते हैं तो यह बहुत ही शुभ होता है। इस दिन दाल और चावल की खिचड़ी खाना और दान करना बेहद शुभ होता है। अगर आप खिचड़ी दान करना चाहते हैं तो काली उड़द की दाल के साथ चावल मिलाकर बनाइए और दान कीजिए। अगर कच्ची खिचड़ी दान करना चाहते हैं तो उड़द की दाल, चावल, हल्दी नमक और देसी घी को अलग अलग बर्तन में रखकर दान कर सकते हैं। चूंकि उड़द शनि का प्रतीक है, इसलिए इसके दान से शनिदोष दूर होगा और चावल चूंकि अक्षय अनाज कहा जाता है। चावल दान करेंगे तो उसका सौ गुणा पुण्य प्राप्त होता है।

तिल

मकर संक्रांति पर कहावत भी है – तिल चटके, दिन अटके। यानी इस दिन तिल चटकाए जाते हैं। तिल के लड्डू खाए जाते हैं और तिल के अन्य पकवान भी। लेकिन साथ ही तिल का दान भी महादान है। तिल चूंकि शनिदेव से संबंधित है इसलिए तिल के दान से शनिदोष दूर होता है। कहते हैं कि नाराज सूर्य भगवान को प्रसन्न करने के लिए उनके पुत्र शनिदेव ने काले तिलों का ही प्रयोग किया था। इसलिए इस दिन तिल का दान काफी शुभ माना जाता है। इससे शनिदोष खत्म होता है और सूर्य भगवान प्रसन्न होते हैं।

rgyan app

काली वस्तुएं

मकर संक्रांति के दिन काली वस्तुएं जैसे काला कंबल, काले कपड़े, या अन्य जरूरत का सामान दान कर सकते हैं। इससे शनिदोष भी दूर होगा और साथ ही राहू का प्रभाव भी आपके जीवन से दूर होगा। लेकिन ध्यान रखें कि पुराना सामान दान न करें। कंबल दान करने से भरी ठंड में जरूरतमंदों को राहत मिलेगी जिससे शनिदेव आपसे प्रसन्न हो जाएंगे।

गुड़ और घी

शास्त्रों में कहा गया है कि गुड़ और देशी घी दोनों ही गुरु से संबंध रखते हैं। इस बार संयोग से मकर संक्राति गुरुवार को पड़ रही है इसलिए आप दान करते समय ध्यान रखें कि दान की जा रही वस्तुओं में से किसी का संबंध गुरु के साथ हो तो बहुत शुभ होगा। आप गुड़ और घी का दान कर सकते हैं। शुद्ध घी के दान से गुरु आपके करियर के नई ऊंचाईयां और रफ्तार देंगे जबकि गुड़ के दान से शनिदोष औऱ गुरुदोष दूर होते हैं। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखसेंसेक्स | शेयर बाजार: सुस्त शुरुआत, बैंकिंग शेयरों में दबाव से बाजार पस्त
अगला लेखबैडमिंटन स्टार साइना नेहवाल कोरोना पॉजिटिव, थाईलैंड में हुईं क्वारनटीन