कोरोना के डर से शेयर बाजार लुढ़का, सेंसेक्स में 1300 अंक से ज्यादा की गिरावट

कोरोना के बढ़ते खौफ के बीच शेयर बाजार में आज हफ्ते के पहले कारोबारी सत्र में तेज गिरावट देखने को मिल रही है। आज के कारोबार में प्रमुख इंडेक्स लाल निशान में खुले , जिसके बाद बाजार पर लगातार दबाव बढ़ गया। सेंसेक्स में अबतक 1300 अंक से ज्यादा की गिरावट दर्ज हो चुकी है। वहीं निफ्टी 400 अंक से ज्यादा लुढ़क गया है।

astrologi report

कैसा रहा शुरुआती कारोबार

आज के कारोबार में सेंसेक्स मामूली गिरावट के साथ 50021 के स्तर पर खुला। इंडेक्स का पिछला बंद स्तर 50030 था। कारोबार के साथ ही इसमें गिरावट और बढ़ गई और इंडेक्स 48,600 के स्तरों से भी नीचे पहुंच गया। यानि इसमें 1300 अंक से ज्यादा की गिरावट दर्ज हो चुकी है। दूसरी तरफ निफ्टी पिछले बंद स्तर 14867 के मुकाबले गिरावट के साथ 14500 के स्तर से भी नीचे आ गया।

कैसा रहा सेक्टर्स का शुरुआती प्रदर्शन

शुरुआती कारोबार में आईटी और मेटल सेक्टर को छोड़कर बाकी सभी सेक्टर इंडेक्स में गिरावट देखने को मिली थी। हालांकि गिरावट के साथ बाद में मेटल सेक्टर भी लाल निशान में आ गया। शुरुआती कारोबार में आईटी सेक्टर में 1 प्रतिशत से ज्यादा की तेजी रही। वहीं मेटल सेक्टर ने अपनी करीब एक प्रतिशत की गिरावट पहले घंटे में गंवा दी। दूसरी तरफ बैंकिंग सेक्टर में 5 प्रतिशत से ज्यादा की तेज गिरावट दर्ज हो चुकी है।। सरकारी बैंकों के इंडेक्स में शामिल सभी 13 बैंक नुकसान के साथ कारोबार कर रहे हैं, इसमें से भी आधे से ज्यादा स्टॉक 2 प्रतिशत से ज्यादा नुकसान में हैं। रियल्टी सेक्टर में 1 प्रतिशत से ज्यादा गिरावट देखने को मिली है। ऑटो, फार्मा और एफएमसीजी सेक्टर में भी गिरावट देखने को मिल रही है।

rgyan app

बाजार में क्यों आई गिरावट

बाजार के जानकारों ने पहले ही अनुमान दिया है कि इस हफ्ते बाजार में दबाव देखने को मिलेगा। दरअसल कंपनियों के तिमाही नतीजों की शुरुआत होने वाली है, वहीं इसी हफ्ते पॉलिसी समीक्षा के नतीजे भी आने हैं, ऐसे में बाजार पहले से ही सतर्क रुख अपना रहा है। वहीं दूसरी तरफ कोरोना के मामलों में रिकॉर्ड तेजी से अनिश्चितता भी बढ़ गई है। कोरोना कं मामले रिकॉर्ड 1 लाख के स्तर को पार कर चुके हैं। ऐसे में निवेशक निवेश करने की जगह बाजार से दूरी बनाए रखना ज्यादा पसंद कर रहे हैं जिससे निचले स्तरों पर खरीद बनाई जा सके। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखछत्तीसगढ़ में माओवादियों से मुठभेड़ में 22 जवान शहीद, 12 ज़ख़्मी
अगला लेख…जब PM मोदी ने कहा था- 5 अप्रैल की रात 9 बजे आपके 9 मिनट चाहिए