Market Update: सपाट खुले शेयर बाजार, रियल्टी और फार्मा में तेजी, आईटी सेक्टर में कमजोरी

मिलेजुले ग्लोबल संकेतों के बीच बाजार ने सपाट शुरुआत की है. बाजार हरे निशान में खुलने के बाद फिलहाल लाल निशान में आ गए हैं. सेंसेक्स 100 अंकों से ज्यादा की गिरावट के साथ 59,700 के आस-पास ट्रेड कर रहे हैं. वहीं, निफ्टी लगभग 50 अंकों की गिरावट के साथ 17,770 के करीब ट्रेड कर रहा है. आईटी सेक्टर में कमजोरी देखने को मिली रही है. हालांकि बैंक निफ्टी 200 अंकों की मजबूती कारोबार कर रहा है.

अमेरिकी बाजार

Dow कल 215 अंक चढ़कर रिकॉर्ड स्तरों पर बंद हुआ था. वहीं, नया रिकॉर्ड स्तर छूने के बाद S&P 500 फ्लैट बंद हुआ था. टेक शेयरों में दबाव से Nasdaq कल 210 अंक फिसला था. बॉन्ड यील्ड में उछाल से टेक शेयरों में बिकवाली देखने को मिली थी. बॉन्ड यील्ड बढ़ने से फाइनेंशियल शेयरों में तेजी आई थी. Ford Motor का शेयर कल 11 फीसदी उछला था. Ford ने EV ट्रक का उत्पादन दोगुना करने का एलान किया है. कल एयरलाइन और ट्रैवल से जुड़े शेयरों में भी खरीदारी रही थी.

फोकस में एविएशन सेक्टर

मुंबई और दिल्ली से कोलकता की उड़ान पर थोड़ी राहत मिली है. हफ्ते में 2 के बजाए तीन दिन उड़ानों की मंजूरी मिल गई है. सोमवार, बुधवार और शुक्रवार को उड़ाने होंगी.

फोकस में BHARAT FORGE

Tork Motors जनवरी के अंत तक पहला इलेक्ट्रिक व्हीकल उतारेगी. देश में बनी ई-बाइक Kratos की कीमत 1.5 लाख रुपए संभव है. Tork Motors में Bharat Forge की मेजोरिटी हिस्सेदारी है.

GO FASHION में फंड एक्शन

GO FASHION में SBI MF ने 4.61 लाख यानी 0.85 फीसदी हिस्सा खरीदा है. कंपनी में SBI MF का हिस्सा 4.57 फीसदी से बढ़कर 5.43 फीसदी हो गया है. GAIL ने ONGC Tripura में 26 फीसदी हिस्सा IL&FS Group कंपनियों से खरीदा है.

US में बॉन्ड यील्ड बढ़ी

उधर 10 साल की US बॉन्ड यील्ड 1.65% पर नजर आ रही है. इंट्राडे में 10 साल की बॉन्ड यील्ड 1.71% तक पहुंची है. वहीं, निवेशकों को आज Fed के मिनट्स का इंतजार होगा. ADP आज दिसंबर की जॉब रिपोर्ट जारी करेगी. दिसंबर में 3.75 लाख नई जॉब्स जुड़ने का अनुमान है.

OPEC+ ने लिया कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने का फैसला

OPEC+ का क्रूड उत्पादन बढ़ाने का फैसला आया है. OPEC+ ने कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाने का फैसला किया है. पहले से तय DECISION के मुताबिक फरवरी से रोजाना 4 लाख बैरल अधिक प्रोडक्शन का लक्ष्य रखा गया है. ब्रेंट का भाव 80 डॉलर के पार निकल गया है. US सप्लाई बढ़ाने के लिए दबाव डाल रहा था. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतindia.news18.com
पिछला लेखवास्तु टिप्स:स्टडी रूम में इन रंगों के प्रयोग से बढ़ती है बच्चों की अध्ययन क्षमता
अगला लेखMakar Sankranti 2022: मकर संक्रांति 14 या 15 जनवरी को? यहां जानें स्नान दान की सही तारीख