मेंथा ऑयल रेट: मेंथा ऑयल लौटी खरीदारी, ऐसे करें कमाई

गुरुवार को भी मेंथा ऑयल में तेजी देखने को मिली. आज सुबह 10.20 बजे के आसपास एमसीएक्स पर मेंथा ऑयल का दिसंबर वायदा 11.70 रुपये या 1.19 फीसदी की तेजी के साथ 998.0 रुपये प्रति किलोग्राम पर कारोबार कर रहा था. बुधवार को मेंथा ऑयल का भाव 0.41 फीसदी गिरकर 998.30 रुपये प्रति किलोग्राम पर बंद हुआ था. आइए जानिए क्रिसमस घर पर जरूर बनाएं ये शानदार आइटम्स.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

ब्रोकरेज फर्म केडिया एडवाइजरी के एमडी अजय केडिया का कहना है कि पिछले सत्र में मेंथा ऑयल का भाव मुनाफावसूली देखने को मिली थी. हालांकि, ठंड का मौसम बढ़ने से उपभोक्ता उद्योगों की मांग में इजाफा हो रहा है. इसके अलावा चीन की तरफ से भी निर्यात मांग में इजाफा दिखा है. उनका कहना है कि जैसे ही दिसंबर तक मेंथा ऑयल की मांग और बढ़ने की संभावना है. इससे आगे कीमतों में तेजी का अनुमान है. किसानों के विरोध प्रदर्शन के चलते इस साल मेंथा ऑयल की रोपाई में देरी की संभावना है. ऐसे में आगे भाव में मजबूती दिख सकती है.

केडिया का कहना है कि 990 रुपये के आसपास दिसंबर वायदा में खरीदारी की सलाह है. 980 रुपये के भाव पर स्टॉपलास लगाएं और दो कारोबारी सत्रों में 1030 रुपये प्रति किलोग्राम का लक्ष्य रखें.

rgyan app

फार्मा और एफएमसीजी कंपनियां साबुन, सैनिटाइजर और कफ सीरप बनाने में मेंथा ऑयल का इस्तेमाल करती हैं. इसके अलावा पान मसाला उद्योग में भी मेंथा ऑयल की काफी खपत होती है. मेंथा ऑयल का इस्तेमाल फार्मा इंडस्ट्री, कास्मेटिक इंडस्ट्री, एफएमसीजी सेक्टर के साथ ही कंफेक्शनरी उत्पादों में सबसे ज्यादा होता है. भारत दुनिया का सबसे बड़ा मेंथा ऑयल उत्पादक और निर्यातक है. मेंथा ऑयल की सबसे ज्यादा पैदावार यूपी में होती है. देश में होने वाले कुल मेंथा ऑयल के उत्पादन में यूपी की हिस्सेदारी करीब 80 फीसदी है. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here