मूर्ति विसर्जन के दौरान हमले में जेडीयू नेता की हत्या, प्रदर्शनकारियों ने धार्मिक स्थल में लगाई आग

पटना बिहारशरीफ के शेखपुरा में शनिवार की रात जेडीयू नेता अमित वशिष्ठ की हत्या के बाद भड़के पार्टी कार्यकर्ताओं और वशिष्ठ के समर्थकों ने रविवार को एक धार्मिक स्थल में आग लगा दी। पुलिस और स्थानीय लोगों ने काफी मशक्कत के बाद आग बुझाई, हालांकि धार्मिक स्थल आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हो गया। प्रदर्शनकारियों ने प्रशासन विरोधी नारे भी लगाए।

आज का अंक ज्योतिष: देखें अंकों का योग किनके लिए बना रहा शुभ संयोग

खबरों के मुताबिक, अमित वशिष्ठ उर्फ नंद किशोर कुशवाहा के समर्थक रविवार को शेखपुराके पास बड़ी संख्या में एकत्रित हुए और टायर में आग लगाकर सकड़ पर आवागमन रोक दिया। इसकी वजह से घंटों तक यातायात बाधित कर रहा। इसके बाद प्रदर्शनकारियों का एक ग्रुप दल्लू चौक गया, और एक धर्मस्थल में आग लगा दी। प्रदर्शनकारियों ने आसपास की दुकानों को भी जबरन बंद करा दिया।

स्थानीय निवासी रणजीत कुमार ने कहा कि प्रदर्शनकारी जेडीयू नेता पर हमले में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की मांग कर रहे थे। उन्होंने बताया, ‘अचानक अफवाह उड़ी कि पीएमसीएच में इलाज के लिए एडमिट एक अन्य घायल मिंटू कुमार की मौत हो गई है, इसके बाद प्रदर्शनकारियों ने एक धार्मिक स्थल पर हमला कर दिया।’ हालांकि अभी तक दूसरी मौत की न तो पुष्टि हुई और न ही किसी अधिकारी ने इनकार किया।

आद्यात्मिक और सामाजिक जानकारी के लिए अभी डाउनलोड करे : Rgyan APP

गांव में हालात तनावपूर्ण
सूत्रों के अनुसार, पुलिस ने धर्मस्थल को नुकसान पहुंचाने के मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं की है। हालांकि स्थानीय निवासियों को भरोसे में लेने के लिए पुलिस ने इलाके में एक फ्लैग मार्च किया। अधिकारियों ने प्रदर्शनकारियों को यह भी आश्वासन दिया कि वे जेडीयू नेता पर हमले में शामिल लोगों को जल्द गिरफ्तार करेंगे। शेखपुराके एसपी दया शंकर अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ इलाके में डेरा डाले हुए हैं, इलाके के हालात तनावपूर्ण बताए जा रहे हैं।

यह था मामला
आपको बता दें कि शनिवार शाम अरियरी थाना के सनैया गांव में मूर्ति विसर्जन यात्रा निकाली जा रही था। यात्रा में तेज आवाज में डीजे बज रहा था। गांव के लोगों ने विसर्जन के लिए जा रहे लोगों से डीजे बंद करने को कहा। जिसके बाद शुरू हुई कहासुनी हिंसक झड़प में बदल गई। कुछ लोगों ने बंदूक निकालकर फायरिंग और पत्थरबाजी शुरू कर दी। गोलीबारी और पत्थरबाजी के बीच जेडीयू नेता अमित वशिष्ठ उर्फ नंदकिशोर कुशवाहा की मौत हो गई थी।