आयशर मोटर्स का स्टॉक 3 रुपये से बढ़कर हुआ 2,618 रुपये का, 10000 बन गए 82 लाख, क्या आपके पास है?

बाजार में मौजूद कई शेयरों ने निवेशकों (stock return) को बंपर फायदा दिलाया है. शेयरधारकों को 100 फीसदी से भी ज्यादा का रिटर्न मिला है. अगर आप भी पैसा लगाने का प्लान बना रहे हैं तो इस तरह के शेयर्स को अपने पोर्टफोलियो में जोड़ सकते हैं. इंडियन मार्केट में मल्टीबैगर शेयर्स (Multibagger stocks 2022) की लिस्ट देखें तो इसमें स्मॉलकैप और मिडकैप सभी तरह शेयर्स शामिल हैं.

आज हम बात कर रहे हैं आयशर मोटर्स के शेयर (Eicher Motors Share) की. इस शेयर में जिस शेयरधारक ने धैर्य बनाए रखा उसको छप्परभाड़ रिटर्न मिला है.

3 रुपये वाला स्टॉक हुआ 2,618 रुपये का

बता दें कि आयशर मोटर्स के शेयर की कीमत 25 जनवरी 2002 को एनएसई पर 3.18 रुपये थी जो 28 जनवरी 2022 को एनएसई पर बंद कीमत 2,618 पर पहुंच गई. इन 20 सालों में लगभग 82,225 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है.

जानिर कितने महीने में कितनी बढ़ी शेयर की कीमत

पिछले एक साल से, किसी भी अन्य ऑटो स्टॉक की तरह, आयशर मोटर्स का शेयर कोविड -19 महामारी के प्रकोप के कारण नकारात्मक रहा है. पिछले एक महीने में, स्टॉक सिर्फ 1 फीसदी बढ़ा है, जबकि पिछले 6 महीनों में आयशर मोटर्स के शेयर की कीमत महज 0.50 फीसदी बढ़ पाई है.

पिछले एक साल में आयशर मोटर्स के शेयर की कीमत लगभग ₹2842 से घटकर ₹2618 हो गई है, इस अवधि में लगभग 8 प्रतिशत की हानि हुई है. पिछले 5 वर्षों में ऑटो स्टॉक लगभग ₹2340 से बढ़कर ₹2618 के स्तर पर पहुंच गया है.

जिन लोगों ने 10 साल पहले आयशर मोटर्स के शेयरों में निवेश किया था, उन्हें स्टॉक से भारी रिटर्न मिला है क्योंकि इस अवधि में ऑटो स्टॉक में लगभग 1500 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की गई है. इसी तरह, पिछले 20 सालों में शेयर की कीमत 3.18 रुपये से बढ़कर 2618 रुपये हो गई है, इस अवधि में लगभग 82 गुना वृद्धि हुई है.

10 हजार रुपये लगाने वालों को 82 लाख का फायदा

अगर किसी व्यक्ति ने कंपनी के शेयरों में 25 जनवरी 2002 को 10,000 रुपये लगाए होते और अपने निवेश को बनाए रखा होता तो आज की तारीख में यह पैसा 82.31 लाख रुपये होता. यानी, निवेशक को सीधे-सीधे 82 लाख रुपये से अधिक का फायदा मिलता. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतindia.news18.com
पिछला लेखजानें पूजा के समय नारियल फोड़ना क्यों शुभ माना जाता है
अगला लेखकोरोना केस की रफ्तार हुई धीमी, लेकिम नहीं थम रहा मौत का आंकड़ा, 24 घंटे में 959 लोगों ने तोड़ा दम