Weather Updates: रविवार सुबह दिल्ली-NCR में गरजे बादल, जानिए आज कहां-कहां है ठंड का अलर्ट!

शुक्रवार से भीषण कोहरा झेल रहे उत्तर भारत के लोगों की रविवार सुबह बादलों की तेज गड़गड़ाहट के साथ शुरू हुई। रविवार सुबह करीब 5 बजे से दिल्ली एनसीआर के साथ ही हरियाणा और उत्तर प्रदेश के इलाकों में जोरदार बारिश हुई। बारिश के चलते उत्तर भारत में एक बार फिर पारा लुढ़क गया। मौसम विभाग पहले ही साल के पहले सप्ताह में दिल्ली-एनसीआर में ठंड के बीच बारिश का अनुमान जता चुका है।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

उत्तर भारत में जारी शीतलहर के बीच पहाड़ी राज्यों में बर्फबारी का सिलसिला जारी है। हिमाचल प्रदेश के केलांग में तापमान शून्य से नीचे 7.3 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया है। वहीं जम्मू कश्मीर के कई इलाकों में ताजा बर्फबारी से पारा शून्य से नीचे लुढ़क चुका है। मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश में भारी बर्फबारी को लेकर येलो अलर्ट जारी किया है। शिमला के मौसम केद्र ने 03 से 05 जनवरी के बीच राज्य के मैदानी इलाकों में बारिश होने वहीं मध्यम एवं ऊंचे पर्वतीय क्षेत्रों में बारिश के साथ बर्फबारी का पूर्वानुमान जताया है।

इन इलाकों में बारिश का अनुमान

मौसम विभाग ने दिल्ली, राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश समेत कई राज्यों में रविवार 3 जनवरी को बारिश की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश के खुर्जा, एटा, किशनगंज, अमरोहा, मुरादाबाद, चंदौसी, आगरा, मथुरा, नोएडा, दादरी, गाजियाबाद, अलीगढ़, बदायूं, मोदीनगर, हाथरस में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना जताई है। वहीं राजस्थान के राजगढ़, अलवर, दौसा और हरियाणा के सोनीपत जिंद, पानीपत, करनाल समेत कई जगहों पर बारिश का अनुमान है।

rgyan app

न्यूनतम तापमान में होगी वृद्धि

मौसम विभाग के मुताबिक पश्चिमी विक्षोभ या वेस्टर्न डिस्टर्बेंस वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से दिल्ली के न्यूनतम तापमान में 2 से 6 जनवरी तक इजाफा होगा। इस दौरान न्यूनतम तापमान में 6-8 डिग्री सेल्सियस का अनुमान है। वेस्टर्न डिस्टर्बेंस की वजह से दिल्ली, यूपी, हरियाणा और आस-पास के राज्यों में अगले 4-5 दिन रुक-रुक कर बारिश होगी। वहीं, 03 जनवरी से दिल्लीवालों को शीतलहर का सामना भी करना पड़ेगा। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखईजी मनी का इफेक्ट: कोविड-19 की परेशानियों के बावजूद शेयर बाजार के आसमान छूने की वजह क्या है?
अगला लेखजैकलीन के लिए बेहद बिजी रहेगा साल 2021, पाइपलाइन में है ये फिल्में