हिंदू कैलेंडर के अनुसार नवंबर माह में करवा चौथ, धनतेरस, दिवाली समेत पड़ रहे हैं ये व्रत त्‍योहार

नवंबर का माह कार्तिक मास के साथ शुरू हो चुका है। इसके साथ ही कई व्रत त्योहार शुरू हो चुके है। इस माह करवा चौथ के साथ दिवाली, धनतेरस, छठ और कार्तिक पूर्णिमा पड़ रही है। जानिए इस माह पड़ने वाले बड़े व्रत त्योहारों के बारे में। आइए जानिए वास्तु टिप्स.

नवंबर 2020 में पड़ने वाले व्रत त्योहार
4 नवंबर , बुधवार- करवा चौथ

इन दिन विवाहित महिलाएं पति की लंबी आयु औैर स्वास्थ्य के लिए निर्जला व्रत रखती है।

8 नवबंर – रविवार – अहोई अष्टमी

इस दिन महिलाएं संतान की लंबी आयु और परिवार की खुशहाली के लिए व्रत रखती है। इ व्रत में शाम को तारे दिखने के बाद अहोई की पूजा करते व्रत तोड़ती है।

11 नवंबर – बुधवार – रमा एकादशी

कार्तिक माह के कृष्ण पक्ष की एकादशी को रमा एकादशी के नाम से जाना जाता है। इस दिन भगवान विष्णु की पूजा की जाती है।

13 नवंबर – शुक्रवार- धनतेरस

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की त्रयोदशी तिथि को घनतेरस पड़ता है। इस दिन सोना-चांदी के अन्य चीजें खरीदना शुभ माना जाता है। इस दिन दिवाली पूजन के समय लगने वाली गणपति और माता लक्ष्मी की मूर्ति भी लाई जाती है।

14 नवंबर – शनिवार – दिवाली, नरक चतुर्दशी

कार्तिक मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तो दिवाली का त्योहार मनाया जाता है। इस बार इसी दिन नरक चर्तुदशी भी पड़ रहा है। इस दिन माता लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा अर्चना की जाती है।

15 नवंबर – रविवार – गोवर्धन पूजा

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की प्रतिपदा को अन्नकूट का त्योहार मनाया जाता है।

rgyan app

16 नवंबर – सोमवार – भाई दूज

कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि को भाई-बहन का त्योहार भाई दूज मनाया जाता है। इसे यम द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है।

20 नवंबर – शुक्रवार – छठ पूजा

कार्तिक शुक्ल षष्ठी तिथि को छठ पूजा का त्योहार मनाया जाता है। जिसकी शुरूआत नहाय खाय से होती है जोकि 18 नवंबर को मनाया जाएगा।

23 नवंबर- सोमवार- अक्षय नवमी

कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की नवमी तिथि को अक्षय नवमी या आंवला नवमी कहते हैं। पौराणिक मान्याओं के अनुसार कार्तिक शुक्ल पक्ष की नवमी से लेकर पूर्णिमा तक भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी आवंले के पेड़ पर निवास करते हैं। Reach out to the best Astrologer at Jyotirvid.

25 नवंबर-बुधवार- देव उठनी एकादशी

कार्तिक शुक्ल पक्ष की एकादशी को देवोत्थानी एकादशी और प्रबोधिनी एकादशी के नाम से भी जाना जाता है।

30 नवंबर-सोमवार- कार्तिक पूर्णिमा

कार्तिक पूर्णिमा के दिन देव दीपावली का भी त्योहार मनाया जाता है। कार्तिक पूर्णिमा में दीपदान का विशेष महत्व होता है

और अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखVastu Tips: ऑफिस के केबिन में इस जगह पर दर्पण लगाने से पड़ता है निगेटिव असर
अगला लेखPetrol price update : टंकी फुल कराने से पहले जान लें क्‍या है तेल का आज का भाव