हस्तरेखा विज्ञान: गुरु पर्वत एक ऐसा निशान बनाता है जो व्यक्ति को सफल और महान बना देता है

गुरु पर्वत पर चिह्न का मतलब

सफल होना या न होना आपके कर्मों पर सबसे ज्‍यादा निर्भर करता है और आपकी मेहनत यह तय करती है कि व्‍यक्ति अपने जीवन में कितना संघर्ष करने को तैयार है। लेकिन एक चीज और है जो व्‍यक्ति की सफलता और असफलता तय करती है वह है उसका भाग्‍य और भाग्‍य तय करती हैं हथेली की रेखाएं और चिह्न। हथेली के विभिन्‍न पर्वतों पर स्थित रेखाएं और निशान रुपये-पैसे और करियर का हाल बता सकते हैं। आज हम आपको बताएंगे कि गुरु पर्वत पर स्थित विभिन्‍न चिह्नों के होने का अर्थ …

यह भी पढ़े:  वास्तु टिप्स: गलत दिशा में बना स्टोर रूम पिता-पुत्र के रिश्ते में डालता है खटास

गुरु पर्वत पर क्रॉस का निशान

गुरु पर्वत पर क्रॉस का निशान बताता है कि आपको जल्‍द ही एक खुशहाल वैवाहिक जीवन जीने को मिल सकता है। ऐसे लोगों को समझदार जीवनसाथी और केयर करने वाला पार्टनर मिलता है। वहीं अगर क्रॉस का निशान कुछ बड़ा होता है जो यह बताता है कि व्‍यक्ति अत्‍यंत महत्‍वाकांक्षी है और ऐसे लोग बहुत ही डॉमिनेटिंग स्‍वभाव वाले होते हैं। यदि यही क्रॉस का निशान किसी ऐसी रेखा पर स्थित पर हो जो सीधे हृदय रेखा से आ रही हो और यदि इस रेखा को दूसरी रेखा काटे तो इसका अर्थ है कि ऐसे लोगों को जीवन में कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

गुरु पर्वत पर हो स्‍टार

यदि किसी व्‍यक्ति के हाथ में गुरु पर्वत पर स्‍पष्‍ट रूप से स्‍टार का निशान हो तो इसका अर्थ है कि ऐसे लोगों को अपने जीवन में सर्वाधिक सफलता मिलती है। ऐसे लोगों के जीवन में अचानक से कुछ अच्‍छा होता है और उनका करियर ऊंचाइयां छूने लगता है। ऐसे जातकों को जीवन में कुछ ऊंचा मुकाम पाने में सफलता मिलती है या फिर बाद में उन्‍हें ऐसे लोगों का साथ मिलता है जो पहले से अपने जीवन में स्‍थापित हैं। हालांकि ऐसे लोगों में कई बार धैर्य की कमी देखने को मिलती है। वहीं अगर किसी के हाथ में गुरु पर्वत पर क्रॉस के साथ सितारा होता है तो यह अधिक मुश्किल होता है।

गुरु पर्वत पर हो स्‍क्‍वॉयर

अगर किसी के हाथ में गुरु पर्वत पर स्‍क्‍वॉयर का निशान है तो य‍ह सामाजिक मुद्दों में उस व्‍यक्ति की रक्षा करता है। इस निशान को अध्‍ययन और अध्‍यापन के कार्यों से भी जोड़कर देखा जाता है। ऐसे लोग अधिकांशत: अपना करियर टीचिंग में बनाते हैं। ऐसे लोग सफलता पा लेने के बाद भी अपने जीवन में बहुत ही सज्‍जन और सुशील होते हैं।

गुरु पर्वत पर सिंगल खड़ी रेखा

अगर किसी के हाथ में गुरु पर्वत पर सिंगल खड़ी रेखा हो तो ऐसे लोगों को अपने जीवन में अप्रत्‍याशित सफलता मिलती है। अगर इस रेखा को कोई और रेखा न काटे तो व्‍यक्ति को जीवन जीने में अच्‍छा मुकाम प्राप्‍त करने में किसी प्रकार की कठिनाई का सामना नहीं करना पड़ता है।

यह भी पढ़े: चारधाम यात्रा शुरू, खुले गंगोत्री और यमुनोत्री के कपाट

गुरु पर्वत पर दो खड़ी रेखा गुरु पर्वत पर दो खड़ी रेखा होने का अर्थ है कि व्‍यक्ति बहुत ही महत्‍वाकांक्षी है और सफलता प्राप्‍त करने के लिए खुद को किसी भी हद तक ले जाने को तैयार है। ऐसे लोग अपनी इच्‍छाओं को पूरा करने के लिए कुछ भी कर गुजरते हैं।

गुरु पर्वत पर धार्मिक रेखा

हथेली के बाहरी किनारे की ओर निकलकर गुरु पर्वत को अगर कोई रेखा घेर रही हो तो उसे गुरु वलय और धार्मिक रेखा भी कहते हैं। ऐसे लोग धार्मिक प्रवृत्ति के और उदार होते हैं। यह क्रोध में भले ही किसी को कुछ बुरा कह दें लेकिन दिल से उनका अहित नहीं कर सकते हैं। ऐसे लोगों के अंदर दूसरों का दिमाग पढ़ने और मन की बात जान लेने की भी कला होती है। हर क्षेत्र में उसको सफलता मिलती है।