Panchak June 2022: शुरू हो चुके हैं मृत्यु पंचक, इस दौरान भूलकर भी न करें ये काम

हिंदू पंचांग में हर महीने 5 दिन ऐसे होते हैं जिन्हें पंचक कहा जाता है और इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। पंचक भी 5 तरह के होते हैं- रोग पंचक, अग्नि पंचक, राज पंचक, चोर पंचक और मृत्यु पंचक। इन पंचक में सबसे ज्यादा भय जिस पंचक से लोगों को होता है वो है मृत्यु पंचक से। क्योंकि मृत्यु पंचक के समय अगर किसी की मौत हो गई तो उस परिवार के 5 लोगों की मौत होती है ऐसा माना जाता है। इस बार 18 जून यानी कि शनिवार से मृत्यु पंचक शुरू हुए हैं और ये पंचक 23 जून 2022 तक चलेंगे।

सबसे अशुभ होता है मृत्‍यु पंचक

जिस महीने का पंचक शनिवार से शुरू होता है उस महीने ये मृत्यु पंचक होता है। यह सबसे ज्यादा अशुभ पंचक माना जाता है। इस दौरान बहुत सावधानी बरतने की जरूरत होती है, इस दौरान कोई भी शुभ कार्य नहीं किया जाता है। इस बार 18 जून से शुरू हुआ ये मृत्यु पंचक 23 जून तक चलेगा इस दौरान आपको न ही कोई शुभ कार्य करना है न ही कोई शॉपिंग करनी है। अपनी सेहत का ख्याल भी रखना होगा।

पंचक काल में इन कार्यों की होती है मनाही

पंचक के दौरान लकड़ी या लकड़ी से बना सामान नहीं खरीदा जाता है
पंचक के दौरान घर की छत नहीं बनवाई जाती है।
पंचक के दौरान फर्नीचर, पलंग, चारपाई इत्यादि नहीं खरीदी जाती है।
पंचक के दौरान दक्षिण दिशा की ओर यात्रा करना अशुभ होता है।
अगर इस दौरान किसी की मौत होती है तो ब्राह्मण से पूछकर ही विधि-विधान के अनुसार अंतिम संस्कार करें, इस दौरान परिवार में 5 मृत्यु भी हो सकती है इसलिए पंडित इस दौरान अंतिम संस्कार अलग तरीके से करते हैं जिससे अन्य परिजनों पर मृत्यु की बाधा न आए।

साल 2022 के आने वाले पंचक

जुलाई 2022- 15 जुलाई, शुक्रवार से 20 जुलाई, बुधवार तक
अगस्त 2022- 12 अगस्त, शुक्रवार से 16 अगस्त, मंगलवार तक
सितंबर 2022- 9 सितंबर, शुक्रवार से 13 सितंबर, मंगलवार तक
अक्टूबर 2022- 6 अक्टूबर, गुरुवार से 10 अक्टूबर, सोमवार तक
नवंबर 2022- 2 नवंबर, बुधवार से 6 नवंबर, रविवार तक
दिसंबर 2022- 26 दिसंबर, सोमवार से 31 दिसंबर, शनिवार तक

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखAaj Ka Panchang 21 June 2022: जानिए मंगलवार का पंचांग, राहुकाल, शुभ मुहूर्त और सूर्योदय-सूर्यास्त का समय
अगला लेखYoga Day 2022: हर रोज करें ये 12 योगासन, 10 दिन में घट सकता है 10 किलो वजन