Papmochani Ekadashi 2021: कब है पापमोचनी एकादशी, जानिए महत्व, पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

हिंदू धर्म में चैत्र मास की कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि का काफी महत्व है. यह एकादशी पापमोचनी एकादशी कही जाती है. इस बार यह एकादशी 7 अप्रैल 2021 को है. इस एकादशी पर पूरे विधि विधान से भगवान विष्णु की पूजा की जाती है. मान्यताओं के अनुसार, इस खास और पवित्र दिन पूजा-पाठ और व्रत करने से लोगों को पापों से मुक्ति मिलती है. इसलिए इस एकादशी को पापमोचनी एकादशी कहा जाता है. इसके अलावा इस दिन व्रत करने से जीवन में सुख-समृद्धि और शांति बनी रहती है.

rgyan app

पापमोचनी एकादशी व्रत का शुभ मुहूर्त

एकादशी तिथि आरंभ: 07 अप्रैल, बुधवार रात 02: 09 मिनट से.
एकादशी तिथि समाप्त: 08 अप्रैल, गुरुवार रात 02:28 पर
हरिवासर समाप्त होने का समय: 08 अप्रैल, गुरुवार सुबह 08: 40 पर
एकादशी व्रत पारण मुहूर्त: 08 अप्रैल, गुरुवार दोपहर 01: 39 मिनट से शाम 04:11 मिनट तक.

astrologi report

इस विधि से करें पूजा

  • एकादशी के दिन सुबह सूर्योदय से पहले उठें
  • उठने के बाद स्नान करके साफ-सुथरे कपड़े पहनें और व्रत का संकल्प लें.
  • भगवान विष्णु को दीप, चंदन, धूप और फल अर्पित करें और पूरे विधि-विधान के साथ पूजा करें.
  • भगवान की आरती करें और व्रत कथा सुनें.
  • रात्रि के समय सोएं नहीं, बल्कि भजन-कीर्तन करके जागरण करें.
  • व्रत खोलने से पहले किसी ब्राह्मण को भोजकर कराएं और दान दें.

अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतndtv.in
पिछला लेखDream Interpretation:क्यों दिखाई देते हैं खेत-खलियान से जुड़े सपने? जानिए क्या कहता है सामुद्रिक शास्त्र
अगला लेखइन 4 चीजों में मनुष्य को कभी भी नहीं करनी चाहिए शर्म, तभी हर कोई करेगा आपकी तारीफ