Pradhan Mantri Awas Yojana: इस राज्य में एक लाख परिवारों को मिलने जा रही है गुड न्यूज

मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) से अच्छी खबर है। यहां घर का सपना संजोए बैठे एक लाख परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना (Pradhan Mantri Awas Yojana) के तहत आवास मिलने वाला है। यह हितग्राही मंगलवार को अपने नए आवास में गृह प्रवेश करने वाले हैं। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) और मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chouhan) एक लाख हितग्राहियों को वर्चुअल कार्यक्रम के जरिए नए घरों में गृह-प्रवेश करवाएंगे।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

इस खास मौके पर ये दोनों नेता प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ लेने जा रहे इन लोगों से बातचीत भी करेंगे। राज्य में प्रधानमंत्री आवास योजनांतर्गत इतनी बडी संख्या में गृह-प्रवेश कराए जाने का यह दूसरा बड़ा आयोजन है। इससे पहले 12 सितंबर 2020 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने प्रदेश के दो लाख परिवारों को गृह-प्रवेश कराया था। राज्य में योजनांतर्गत कोरोना की चुनौतियों से निपटते हुए तीन लाख से अधिक आवास निर्मित किए गए। वैसे राज्य में 18 लाख ग्रामीण परिवारों को अब तक आवास उपलब्ध कराए गए हैं।

योजनान्तर्गत हितग्राही को मकान की इकाई लागत मैदानी जिलों में एक लाख 20 हजार तथा दूरस्थ पहुंच-विहीन, दुर्गम पहाड़ी क्षेत्रों में एक लाख 30 हजार रुपए शत-प्रतिशत अनुदान के रूप में आवास निर्माण कार्य की प्रगति के आधार पर किश्तों के रूप में दिये जाते हैं। मकान के साथ ही स्वच्छ शौचालय का निर्माण भी किया जाता है। हितग्राही को उज्जवला योजना के तहत एल.पी.जी. गैस कनेक्शन भी उपलब्ध कराया जाता है।

rgyan app

प्रधानमंत्री आवास योजना के जिन एक लाख हितग्राहियों को गृह प्रवेश कराया जा रहा है, उन्हें एक लाख बीस हजार के मान से लगभग 12 सौ करोड़ से अधिक राशि उनके खातों में अंतरित की गई थी। आवासों को पूर्ण करने का अधिकतम समय 12 माह है, परंतु यह आवास कोविड-19 के चुनौतीपूर्ण समय में अत्यंत कम अवधि में तेजी से पूर्ण किये गये हैं। जबकि राष्ट्रीय स्तर पर आवासों की पूर्णता की अवधि 114 दिन है। इस योजना ने वास्तविक अर्थों में विपदा को अवसर में बदला है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखक्या होता है टूलकिट? किसान आंदोलन में ग्रेटा थनबर्ग से लेकर दिशा रवि तक क्यों आईं लपेटे में?
अगला लेखSide Effects Of Tea: एक दिन में पी रहे हैं इतने कप चाय, तो इन बीमारियों को झेलने के लिए रहें तैयार