रमज़ान 2020: चांद के दीदार के साथ 25 अप्रैल यानी आज से शुरू हो रहें हैं रोजे, आइए जानते हैं भारत में सहरी और इफ्तार का समय

रमज़ान को इस्लाम धर्म में बहुत ही पवित्र माह माना जाता है।  इस्लामिक कैलेंडर का नौवा महीना सबसे पवित्र माना जाता है। चांद के दीदार के साथ ही पूरे हर साल 29 या 30 रोजे ही रखे जाते हैं। भारत में रमज़ान कब से शुरू हो रहे हैं यह बात चांद के दीदार होने पर निर्भर है। आपको बता दें कि गुरूवार को कर्नाटक के उड्डपी और दक्षिणा कन्नड जिलों में चांद के दीदार हो चुके हैं। जिसके कारण यहां पर 24 अप्रैल से रमज़ान शुरू हो गए है लेकिन भारत के अन्य हिस्सों में चांद नहीं दिखा है जिसके कारण उम्मीद लगाई जा रही हैं कि 25 अप्रैल को पहला रोजा पड़ेगा। वहीं दूसरी ओर सऊदी अरब में  भी आज से ही माह-ए-रमजान शुरू हो चुका है।

यह भी पढ़े: अक्षय तृतीया पर इन टोटकों से घर लाएं धन लक्ष्मी

सहरी और इफ्तार

रोजा में सूर्योदय से पहले खाए जाने वाले खाने को सहरी कहते हैं। इसके बाद बिना अन्न जल ग्रहण किए दिनभर रोजा रखते हैं। उसके बाद शाम को सूर्यास्त के बाद खाना खाते हैं जिसे इफ्तार के नाम से जाना जाता है।

इफ्तार और सहरी का समय

अगर पहला रोजा 25 अप्रैल को पड़ रहा है तो इफ्तार का समय 6 बजकर 33 मिनट पर होगा। जिसके साथ ही पवित्र माह रमज़ान के आखिरी रोजा के दिन सहरी का समय 3 बजकर 29 मिनट पर होगा। वहीं, इफ्तार 6 बजकर 48 मिनट पर होगा। आपको बता दें कि इस माह में हर दूसरे और तीसरे रोजे की सहरी और इफ्तार के समय में बदलाव होता रहता है। वहीं सबसे पड़े रोजा की बात करें तो इस बार माह का आखिरी दिन होगा। जिसमें 15 घंटे 27 मिनट का रोजा होगा।

त्रिवेंद्रम

सहरी: 04:56 AM
इफ्तार: 6:33 PM

दिल्ली रमज़ान का समय 25 अप्रैल
सहरी: 04:21 AM
इफ्तार: 6:54 PM

मुंबई
सहरी: 04:57 AM
इफ्तार: 7:00 PM

बेंगलुरु
सहरी: 04:47 AM
इफ्तार: 6:35 PM

हैदराबाद
सहरी: 04:37 AM
इफ्तार: 6:36 PM

चेन्नई
सहरी: 04:36 AM
इफ्तार: 6:24 PM

रमज़ान को लेकर कहा जाता है कि इस पवित्र माह में लोग इबादत करके अल्लाह से अपने गुनाहों की माफी मांगते हैं। इन दिनों में इबाबत करने से अन्य दिनों के मुकाबले 70 गुना अधिक सवाब मिलता है।