नवरात्र पर जानिए दिल्ली के प्रसिद्ध ‘झंडेवालान’ मंदिर की कहानी

नवरात्र के मौके पर मां दुर्गा के मंदिरों में मां के दर्शन करने के लिए श्रद्धालु उमड़ पड़ते हैं। इसी तरह से दिल्ली के झंडेवालान मंदिर में भी मां के लिए दर्शन के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं। खासकर शरदीय नवरात्र पर यहां भक्तों की भारी भीड़ उमड़ती है।

माता झंडेवाली का मंदिर एक सिद्ध पीठ है जहां पर लोग मां से अपनी मुराद पूरी करने की कामना लेकर आते हैं। नवरात्र में इस मंदिर की सजावट देखने लायक होती है। इस त्योहार पर हर साल यहां कुछ अलग होता है।

इस मंदिर के बारे में एक अद्भुत कथा प्रसिद्ध है। जिसके मुताबिक मां वैष्णो देवी के एक परम भक्त बद्रीदास हुआ करते थे, जो एक कपड़ा व्यापारी थे। एक दिन बद्रीदास मां की पूजा कर रहे थे। तभी उन्हें एहसास हुआ कि इस जमीन के नीचे कुछ है, जिसके बाद उन्होंने जमीन की खुदाई करनी शुरू कर दी। दिलचस्प बात ये है कि खुदाई करने पर उन्हें उस जगह पर एक झंडा मिला, जिसके कारण इस मंदिर का नाम झंडेवालान रखा गया।

कहा जाता है कि खुदाई के दौरान मां की एक मूर्ति मिली जिसे मंदिर में स्थापित किया गया। सौ साल से भी ज्यादा पुराने इस मंदिर में जब मां की यही मूर्ति खंडित हुई तो उसे हटाने की बजाय इसके खंडित हाथों को चांदी के हाथों में बदल कर फिर से स्थापित किया गया। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखShardiya Navratri 2021: मां दुर्गा के इन मंत्रों के जाप से मन और आत्मा को मिलेगी शांति
अगला लेखदैनिक राशिफल 11अक्टूबर 2021: धनु राशि वालों का आर्थिक पक्ष और होगा मजबूत, जानें अन्य का हाल