Home शेयर बाजार वायदा कारोबारियों की बैंक निफ्टी पर नजर, अपना रहे हैं ये रणनीति

वायदा कारोबारियों की बैंक निफ्टी पर नजर, अपना रहे हैं ये रणनीति

ब्रोकर्स बैंक निफ्टी से फायदा उठाने के लिए ऑप्शंस की जीरो डेबिट रणनीति की सलाह दे रहे हैं, बशर्ते इंडेक्स अपने 200 कारोबारी सत्रों के औसत यानी 23,652 के स्तर के ऊपर बना रहता है. आइए जानिए वास्तु टिप्स.

बुधवार के कारोबारी सत्र के अंतिम घंटे के दौरान इंडेक्स ने तेजी से रिकवरी की क्योंकि बाजार को दो नवंबर को लोन मोरेटोरियम मामले में सुप्रीम कोर्ट से बैंकों के पक्ष में फैसला आने की उम्मीद है.

इस रणनीति की तहत कारोबारियों को 24,000 की एक कॉल खरीदनी है और 24,500 तथा 25,000 की एक-एक कॉल 29 अक्टूबर की एक्सपाइरी की बेचनी है. बुधवार के भाव के आधार पर कारोबारी को 24,000 की कॉल की लागत 620 रुपये आएगी, जबकि बाकी दो कॉल बेचकर उसे 675 रुपये मिलेंगे.

इस तरह कारोबारी को 55 रुपये का फायदा हो सकता है. हालांकि, इस गणना में ब्रोकेरेज और मार्जिन की गणना शामिल नहीं है. 24,500 से 25,000 की एक्पाइरी में अधिकतम 555 रुपये का फायदा होगा, जबकि 25,000 के ऊपर मुनाफा कम होगा, 25,555 तक कोई घाटा या मुनाफा नहीं होगा. Reach out to the best Astrologer at Jyotirvid.

25,555 के स्तर के बाद नुकसान होना शुरू होगा. 24,000 की कॉल इन द मनी ऑप्शन है. यदि बैंक निफ्टी 24,000 के नीचे बंद होता है, तो कारोबारी को घाटा नहीं होगा क्योंकि 24,500 और 25,000 की कॉल खत्म हो जाती है.

रियायंस सिक्योरिटीज के वरिष्ठ विश्लेषक विकास जैन, इंडियाचार्ट्स के संस्थापक रोहित श्रीवास्तव, मोतीलाल ओसवाल के चंदन तापड़िया और एक्सिस सिक्योरिटीज के राजेश पालवीय ने इस रणनीति को अपनाने की सलाह दी है. c

Exit mobile version