निफ्टी में जारी रह सकती है तेजी, आईटी और बैंकों पर भरोसा कायम

बाजार विश्लेषकों का मानना है कि निफ्टी 50 इंडेक्स इस सप्ताह 12,000 के स्तर को पार कर लेगा. बाजार अच्छी गति के साथ बढ़ रहा है. बीते सप्ताह बेंचमार्क इंडेक्स ने 4.4 फीसदी तक की छलांग लगाई थी. इंडेक्स फरवरी में 12,000 के स्तर के नीचे फिसला था. आइए जानिए वास्तु टिप्स.

बैंकिंग और टेक्नोलॉजी शेयरों में अच्छी खासी मजबूती देखने को मिली रही है, जिसके बाद उम्मीद बढ़ रही है कि निफ्टी 12,430.5 के अपने शिखर स्तर के करीब पहुंच सकता है. ईटी ने कई तकनीकी विश्लेषकों से बात की. जानिए क्या है उनकी राय:

share market

नागराज शेट्टी

तकनीकी विश्लेषक, एचडीएफसी सिक्योरिटीज

निकट भविष्य का रुझान तेजी का नजर आता है. बीते सप्ताह बाजार ने लगातार तेजी दर्ज की, जबकि गिरावट नजर नहीं आई. चार्ट्स के आधार पर बाजार अगले एक से दो महीनों में अपने शिखर स्तर को पीछे छोड़ सकता है. इस सप्ताह बाजार 12,150-12,200 की दिशा में बढ़ सकता है.

निफ्टी का सपोर्ट स्तर 11,800 का है, जो काफी महत्वपूर्ण है. इसके नीचे जाने पर बिकवाली आ सकती है. बैंक निफ्टी एक से दो सप्ताह में 25,000 तक पहुंच सकता है. बैंक शेयरों के लिए रुख सकारात्मक बना हुआ है.

rgyan app

जयेश भानुशाली

वरिष्ठ डेरिवेटिव और तकनीकी रिसर्च विश्लेषक, आईआईएफएल

बीते 10-15 दिनों में तेजी की दिशा में काफी अधिक पोजिशन बनाई गई हैं, जिससे विदेशी निवेशकों को लॉन्ग और शॉर्ट पोजिशन का अनुपात दो गुना तक बढ़ गया है. निफ्टी का रेजिस्‍टेंस का स्तर 12,000 और बैंक निफ्टी का 24,000 पर है. इस स्तर को पार करने के बाद ही अच्छी तेजी की उम्मीद बढ़ेगी.

इंफोसिस से अच्छे नतीजों की उम्मीद है, जिसकी वजह से शेयर की चमक बढ़ सकती है. एक्सिस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक इस सेक्टर में बढ़िया प्रदर्शन जारी रखेंगे. भारतीय स्टेट बैंक और बैंक ऑफ बड़ौदा जैसे सरकारी बैंक भी तेजी की पार्टी में शामिल हो सकते हैं. Reach out to the best Astrologer at Jyotirvid.

रोहित श्रीवास्तव

संस्थापक, इंडियाचार्ट्स डॉट कॉम

रुझान तेजी का ही है और 12,200 के स्तर तक जारी रह सकता है. मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों की रौनक भी लौट सकती है. निफ्टी की तेजी में आईटी और बैंकिंग शेयरों की भूमिका अहम रही है, जो अन्य शेयर तक भी फैल सकती है. नवंबर में बाजार 12,500-12,600 के स्तर तक बढ़ सकता है.

बाजार की तेजी सिर्फ बैंकिंग और आईटी शेयरों तक ही सीमित नहीं रहने वाली है. यह ऑटो, मेटल और मिडकैप तक बढ़ सकती है. कोई भी तेजी मिडकैप शेयरों की मौजूदगी के बिना खत्म नहीं होती. निवेशकों के पास अब भी मौका है. और अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here