दिग्गज बैंकों ने बिटकॉइन में ट्रेडिंग के लिए फिर से खोले दरवाजे

दो साल पहले देश के शीर्ष बैंकों ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देश पर क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों और उनके ग्राहकों को सेवाएं देनी बंद कर दी थी. अब वे फिर से क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों को पेमेंट के लिए ग्राहकों को बैंक खातों का इस्तेमाल करने की सुविधा दे रहे हैं. मामले से सीधे तौर पर जुड़े चार लोगों ने यह जानकारी दी. आइए जानिए वास्तु टिप्स.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

इन लोगों का कहना है कि देश के शीर्ष बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, एचडीएफसी बैंक, यस बैंक और आईसीआईसीआई बैंक ने ग्राहकों को क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर अपने बैंक खातों के इस्तेमाल करने की अनुमति देना शुरू कर दिया है. इतना ही नहीं, ये बैंक क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों तक पहुंचने की कोशिश कर रहे है और उन्हें कई तरह की सुविधाएं ऑफर कर रहे हैं. हालांकि, ईटी के सवालों का इन बैकों ने कोई जबाव नहीं दिया. इन बैंकों ने साल 2018 में अपने कई ग्राहकों के बैंक खाते निलंबित कर दिये थे.

वर्ष 2018 में, केन्द्र सरकार और भारतीय रिजर्व बैंक ने बिटकॉइन सहित क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन के खिलाफ कई चेतावनी जारी की थी. सरकार ने बिटकॉइन की तुलना पोंजी योजनाओं के साथ भी की थी.

आरबीआई ने चेतावनी दी थी कि बिटकॉइन या किसी दूसरी वर्चुअल करेंसी में ट्रेडिंग या किसी भी तरह के संचालन के लिए किसी कंपनी को लाइसेंस नहीं दिया जाएगा. मार्च 2020 में सुप्रीम कोर्ट ने क्रिप्टोकरेंसी से जुड़े आरबीआई के सर्कुलर को खारिज कर दिया था. इससे दोबारा क्रिप्टोकरेंसी में ट्रेडिंग करने का रास्ता साफ हो गया था.

rgyan app

शीर्ष क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंजों के ट्रेडिंग वॉल्यूम में पिछले कुछ महीनों से उछाल देखने को मिल रहा है, क्योंकि बिटकॉइन की कीमत 20 हजार डॉलर के करीब पहुंच गई है. क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज Coinswith, Coindcx, ZebPay, WazirX और Unocoin अपने बैंकिंग चैनल के जरिये ट्रेडिंग की अनुमति देते हैं. WazirX के सीईओ निश्चल शेट्टी का कहना है कि हम अपने एक्सचेंज पर कैश लेनदेन की अनुमति नहीं देते हैं और सभी ग्राहकों का बैंक खाता होना जरूरी है. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here