लाल निशान पर खुला सेंसेक्स, निफ्टी 15,000 से नीचे लुढ़का, इन शेयरों पर दबाव

सप्ताह के अंतिम कारोबारी सत्र में बाजार की शुरुआत लाल निशान पर हुई है. बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स करीब 400 अंक यानी 0.82 फीसदी लुढ़ककर 50,430 के स्तर पर खुला. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर निफ्टी 116 अंक यानी 0.77 फीसदी की गिरावट के साथ 15,014 के स्तर पर खुला. हालांकि, कारोबार शुरू होने के थोड़ी देर बाद यह 15,000 से भी नीचे दिखाई दिया.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

शुक्रवार को शुरुआती कारोबार में एचडीएफसी बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, एक्सिस बैंक, एसबीआई और बजाज फाइनेंस के शेयरों पर दबाव देखने को मिल रहा है. जबकि, ओएनजीसी, एनटीपीसी, मारुति सुजुकी, टेक महिंद्रा, एचसीएल टेक, टाइटन कंपनी के शेयरों में बढ़त नज़र आ रही है.

निफ्टी मीडिया इंडेक्स को छोड़कर अन्य सभी सेक्टर्स गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं. बैंक निफ्टी में सबसे बड़ी गिरावट देखे को मिली रही है. यह करीब 1.45 फीसदी लुढ़ककर कारोबार कर रहा है. इसके बाद निफ्टी फाइनेंशियल सर्विसेज के शेयरों में भी दबाव देखने को मिल रहा है.

ब्रॉडर मार्केट की बात करें तो इक्विटी बेंचमार्क की तुलना में यह बेहतर प्रदर्शन कर रहे हैं. बीएसई मिडकैप सपाट कारोबार के साथ 20,971 के स्तर पर कारोबार कर रहा है, जबकि बीएसई स्मॉलकैप इंडेक्स 114 अंक यानी करीब आधे फीसदी की बढ़त के साथ 21,367 पर नज़र आया.

एशियाई व अमेरिकी बाजारों का हाल

बढ़ते अमेरिकी ट्रेज़री बिल्स की वजह से एशियाई बाजारों में भी शुक्रवार को गिरावट देखने को मिल रही है. निक्केई 225, स्ट्रेट टाइम्स, हैंग सेंग, ताइवान इंडेक्स, कोस्पी और शंघाई कम्पोजिट में गिरावट देखने को मिल रही है.

इसके पहले गुरुवार को वॉलस्ट्रीट पर भी गिरावट देखने को मिली. फरवरी के रिकॉर्ड उच्चतम स्तर से नैस्डेक कम्पोजिट अब करीब 10 फीसदी तक फिसल चुका है. गुरुवार को डाओ जोंस 1.11 फीसदी, एसएंडपी 1.34 फीसदी और नैस्डेक कम्पोजिट 2.11 फीसदी लुढ़ककर बंद हुए.

rgyan app

कच्चे तेल के दाम में 4 फीसदी चढ़े

कच्चे तेल के दाम में गुरुवार को 4 फीसदी की तेजी देखने को मिली. ओपेक देशों ने फैसला किया है कि अप्रैल के लिए भी उत्पादन में कोई बदलाव नहीं होगा. उन्होंने कहा है कि अब आर्थिक रिकवरी को लेकर अभी भी कुछ नहीं कहा जा सकता है. इस बैठक के बाद ब्रेंट क्रूड का भाव 4.2 फीसदी बढ़तकर 66.74 डॉलर प्रति बैरल पर पहुंच गया. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here