बढ़त के साथ खुले बाजार, सेंसेक्स ​50 हजार के पार, निफ्टी भी 14700 के ऊपर

पिछले दिन की भारी बिकवाली के बाद मंगलवार को घरेलू बाजार की शुरुआत हरे निशान पर हुई है. मंगलवार को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज पर सेंसेक्स सुबह 09:15 बजे 49,975.77 के स्तर पर खुला. इसके बाद इसमें 0.53 फीसदी की तजी देखने को मिली. आज कारोबार शुरू होने के थोड़ी देर बाद ही सेंसेक्स एक बार फिर 50,000 के आंकड़े को छूने में कामयाब रहा. निफ्टी 50 भी 0.58 फीसदी की बढ़त के साथ 14,760 के पार कारोबार करते नज़र आया है. सप्ताह के दूसरे कारोबार सत्र में मिडकैप व स्मॉलकैप इंडेक्स भी हरे निशान पर कारोबार कर रहे हैं. हालांकि, सीएनएक्स मिडकैप इंडेक्स अभी भी लाल निशान पर कारोबार करते नज़र आ रहा है. आज निवेशकों की नज़र रिलायंस इंडस्ट्रीज और भारती एयरटेल के शेयरों पर होगी.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

मंगलवार को शुरुआती कारोबार में सेक्टोरल इंडेक्स की बात करें तो इसमें आज मिलाजुला कारोबार नज़र आ रहा है. आज ऑटो, कैपिटल गुड्स, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, एफएमसीजी, फार्मा, आईटी, मेटल, ऑयल एंड गैस, पीएसयू और टेक सेक्टर्स बढ़त के साथ कारोबार कर रहे हैं. बैंकिंग स्टॉक्स में आज गिरावट देखने को मिल रही है.

आज टाटा मोटर्स, रिलायंस, हिंडाल्को, बजाज फाइनेंस, एसबीआई और एक्सिस बैंक के स्टॉक्स में अच्छा कारोबार देखने को मिल रहा है. हालांकि, एशियन पेन्ट्स के स्टॉक्स में गिरावट देखने को मिल रही है. इसके अलावा यूपीएल, कोटक महिंद्रा बैंक में भी गिरावट देखने को मिल रही है.

पिछले 5 ट्रेडिंग सेशन में निवेशकों के 5 लाख करोड़ रुपये डूब गए हैं. वित्त वर्ष 2021-22 के लिए आम बजट पेश होने के बाद से स्टॉक मार्केट्स में जो बुल रन आया, वह पिछले सप्ताह कुछ हद तक कंसॉलिडेट हुआ, लेकिन शुक्रवार को बाजार करीब 1% गिरावट के साथ बंद हुई. लेकिन आज तो सेंसेक्स (Sensex) और निफ्टी (Nifty) दोनों में और जबरदस्त गिरावट देखने को मिली. आज सेंसेक्स 2.25% यानी 1145.44 अंकों की गिरावट के साथ 49,744.32 अंकों पर बंद हुआ. वहीं, निफ्टी 2.04% यानी 306.05 अंकों का गिरावट के साथ 14,675.70 अंकों पर बंद हुई.

Top 5 सबसे बड़ी गिरावट मार्च 2020 में आई

वर्ष 2015 से अब तक केवल 18 ऐसे मौके आए हैं, जब सिंगल डे में सेंसेक्स में 1000 से अधिक अंकों की गिरावट आई है. सिंगल डे में सेंसेक्स में सबसं बड़ी गिरावट 23 मार्च, 2020 को आई थी जब कोरोना वायरस महामारी के कारण सेंसेक्स 3934.72 अंक टूट गए थे. इससे पहले 12 मार्च 2020 को सेंसेक्स में 2919.26 अंको की गिरावट आई थी. वहीं, 16 मार्च 2020 को सेंसेक्स 2713.41 अंक, 9 मार्च 2020 को 1941.67 अंक और 18 मार्च 2020 को 1709.58 अंकों की गिरावट दर्ज की गई थी. 04 मई 2020 को सेंसेक्स 2002.27 अंक टूटे थे.

सोमवार को बाजार में गिरावट के बाद विदेशी संस्थागत निवेशकों (FII) ने 893.25 करोड़ रुपये के शेयरों की बिकवाली की है. जबकि, घरेलू संस्थागत निवेशकों (DII) ने 919.88 करोड़ रुपसे के शेयरों की बिक्री की है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज पर 22 फरवरी के लिए इक्विटी मार्केट के प्रोविजनल आंकड़ों से इस बारे में जानकारी मिलती है.

rgyan app

एशियाई बाजारों का हाल

अमेरिका ट्रेजरी यील्ड्स में इजाफा और बढ़ती महंगाई की वजह से बड़ी टेक कंपनियों में बिकवाली देखने को मिल रही है. यही कारण है मंगलवार को एशियाई बाजार भी लाल निशान पर कारोबार करते नज़र आ रहे हैं. हालांकि, निक्केई 225 और हैंगसेंग इंडेक्स मामूली बढ़त के साथ हरे निशान पर कारोबार करते नज़र रहे हैं. ताइवान इंडेक्स, शंघाई कम्पोजिट और कोस्पी लाल निशान पर कारोबार कर रहे हैं.

अमेरिकी बाजार में भी गिरावट

अमेरिकी बाजार की बात करें तो सोमवार को ये गिरावट के साथ बंद हुए हैं. ट्रेजरी यील्ड में इजाफे और महंगाई को लेकर वैलुएशन की चिंता बढ़ी है. इससे उन कंपनियों के शेयरों पर असर पड़ा है, जिनमें बड़ी तेजी देखने को मिल रही थी. डाओ जोंस इंडस्ट्रियल एवरेज 0.09 फीसदी की बढ़त के साथ बंद हुआ. जबकि, एसएंडपी 500 इंडेक्स 0.77 फीसदी और नैस्डेक कम्पोजिट 2.46 फीसदी की बड़ी गिरावट के साथ बंद हुआ. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here