Share Market: गिरावट के साथ खुला शेयर बाजार, Sensex 280 अंक लुढ़का, निफ्टी 14200 के नीचे

मिलेजुले वैश्विक संकेतों के बीच आज घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत गिरावट के साथ हुई है. नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर निफ्टी 50 आज 14,200 के नीचे खुला है. सुबह 09:15 बजे BSE का प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 281 अंक यानी 0.58 फीसदी की गिरावट के साथ 48,066 के स्तर पर खुला. जबकि, निफ्ट 81 अंक यानी 0.57 फीसदी लुढ़ककर 14,158 के स्तर पर खुला. Sensex के 50,000 के जादुई आंकड़े पर पहुंचने के बाद लगातार तीन सत्रों से बाजार में बिकवाली देखने को मिल रही है. एशियाई बाजार में आज मिलाजुला कारोबार दिख रहा है. ब्रॉडर मार्केट में आज मामूली बढ़त के साथ कारोबार करते नजर आ रहा है. बीएसई मिड-कैप (BSE Mid-cap) और स्मॉलकैप (BSE Smallcap) इंडेक्स हरे निशान पर कारोबार कर रहा है. जबकि, सीएनएक्स मिडकैप इंडेक्स लाल निशान पर है.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

सेक्टोरल फ्रंट पर देखें तो आज मिलाजुला कारोबार नजर आ रहा है. आज बैंकिंग, ऑटो, कैपिटल गुड्स, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स, एफएमसीजी, फार्मा और मेटल सेक्टर हरे निशान पर कारोबार करते नजर आ रहे हैं. सबसे ज्याादा तेजी कैपिटल गुड्स के स्टॉक्स में देखने को मिल रही है. लाल निशान पर कारोबार करने वाले शेयरों में आज आईटी, ऑयल एंड गैस, पीएसयू और टेक सेक्टर शामिल हैं.

आज 50 कंपनियों के तिमाही नतीजे जारी होंगे

आज एक्सिस बैंक, हिंदुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, आईसीआईसीआई प्रुडेंशियल लाइफ, मैरिको, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, पीएनबी हाउसिंग समेत कुल 50 कंपनियों आज अक्टूबर-तिमाही के नतीजे जारी करने वाली हैं.

स्क्रैपेज पॉलिसी को मंजूरी

सरकार ने नई स्क्रैपेज पॉलिसी को मंजूरी दे दी है. इसके बाद 15 साल से अधिक पुरानी गाड़ियों को भी खत्म कर दिया जाएगा. इस पॉलिसी को 1 अप्रैल से लागू कर दिया जाएगा. 1 अप्रैल से उन सरकारी वाहनों को सर्विस से हटा दिया जाएगा, जो 15 साल से अधिक पुरानी हो चुकी हैं. केंद्रीय सड़क, परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने पिछले साल सितंबर महीने में ही कहा था कि सरकार के लिए स्क्रैपेज पॉलिसी प्रमुख वरीयता में से एक है. सरकार के इस कदम से वायु प्रदुषण कम होने की उम्मीद है और साथ ही आॅटोमोबाइल सेक्टर में मांग भी बढ़ाने में मदद मिलेगी.

rgyan app

एशियाई बाजार में मिलाजुला करोबार

अमेरिकी बाजार मामूली कमजोरी के साथ बंद हुए थे. एशियाई बाजारों से मिलेजुले संकेत नजर आ रहे हैं. SGX NIFTY में 100 अंक से ज्यादा मजबूती देखने को मिल रही है. बाइडेन सरकार पर राहत पैकेज को मंजूरी का दबाव बना हुआ है. 1.9 ट्रिलियन डॉलर के राहत पैकेज को मंजूरी करने का दबाव है. IMF का अनुमान इस साल ग्लोबल ग्रोथ 5.5% रह सकती है. APPLE, TESLA, FACEBOOK के नतीजों का इंतजार रहेगा. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

स्रोतhindi.news18.com
पिछला लेखमनुष्य की इस एक चीज में छिपा है सफलता और असफलता का मंत्र, एक चूक कर देगी सब खत्म
अगला लेखदिल्ली: किसानों की ट्रैक्टर रैली में उपद्रव के बाद लाल किला मेट्रो स्टेशन बंद, जानें क्या है ट्रैफिक का हाल