कोरोनावायरस संकेत: आपको को तो नहीं हुआ कोरोना वायरस, जानिए घर बैठे ये 10 संकेत

कोरोनावायरस संकेत: ऐसा कोई सबूत नहीं है कि कोरोना वायरस दिसंबर 2019 में आए मामले से पहले भी था, लेकिन ऐसा हो सकता है आप भी इस संक्रमण के शिकार हुए हों, क्योंकि आपकी इम्यूनिटी इतनी मज़बूत थी इसलिए आप आसानी से बीमारी से उबर भी गए। इसके अलावा ये भी हो सकता है, कि कोरोना वायरस के जिस संक्रमण ने आपको शिकार बनाया हो, वो कम ख़तरनाक हो, इसलिए मामला बिगड़ा नहीं। हम आपको बताने जा रहे हैं, ऐसे कुछ लक्षण जिनसे आप समझ पाएंगे कि पहले भी कोरोना के शिकार हुए हैं या नहीं।

यह भी पढ़े: हाई बीपी : इन कारणों के चलते हमारी उम्र तेजी से घट रही है…

क्या आप बुखार के साथ नाक बहना और ज़ुकाम हुआ है?
मौसम के बदलने या फिर एलर्जी की वजह से ज़ुकाम या नाक बहना आम बात है। हालांकि, आजकल कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों को देख, इस तरह के लक्षणों का ध्यान रखना ज़रूरी है। अगर नाक बहने या गले में ख़राश के साथ सूखी खांसी और शरीर का तापमान भी बढ़ता है, तो हो सकता है कि ये आम फ्लू नहीं बल्कि कोरोना वायरस हो।

क्या कभी आप सूंघने में परेशानी आई?
किसी भी चीज़ की सुगंध और स्वाद का न आना, अकसर तब होता है, जब भयानक नज़ला हो, जिसमें नाक अंदर से बंद हो जाती है और आपको संघने और स्वाद नहीं आता है। हालांकि, ये लक्षण कोरोना वायरस संक्रमण का भी है। युवाओं में अकसर कोविड-19 का यही लक्षण देखा गया है, जहां, मरीज़ों में ज़ुकाम या बुखार जैसे लक्षण नहीं होते, लेकिन उन्हें सुगंध और स्वाद के महसूस न होने का अनुभव हो सकता है। एक शोध के अनुसार, इस तरह का लक्षण वो लोग महसूस करते हैं, जो नाक के ज़रिए संक्रमि होते हैं।

सिरदर्द
कोल्ड की वजह से अकसर सिरदर्द भी होता है, लेकिन कनपटी में भयानक दर्द कोविड-19 का लक्षण है। भयानक सिर दर्द साइटोकिन्स के उत्पादन का नतीजा होता है, ऐसा तब होता है जब इम्यून सिस्टम वायरस से लड़ने की तैयारी शुरू करता है। 

सांस लेने में तकलीफ
ये कोविड-19 का सबसे अहम लक्षण है। जो वायरस जिससे कोविड-19 संक्रमण होता है, SARS-nCoV2 श्वसन पथ के ऊपरी हिस्से को अटैक करता है और फेफड़ों की ऊपरी हिस्से को नुकसान पहुंचाता है, जिसकी वजह से सांस लेने में दिक्कत आती है। साथ ही सूखी खांसी, सांस लेने में तकलीफ, बढ़ी हुई दिल की धड़कने जैसे लक्षण दिखाई देते हैं।

कोविड-टोज़
अचानक ऐसे मरीज़ बढ़ गए हैं, जिन्हें पैरों की उंगलियों में सूजन और दर्द की शिकायत है। यहां तक कि ये वो लोग हैं जिन्होंने पहले कभी भी पैरों और हाथों की उंगलियों में सूजन या दर्द अनुभव नहीं किया है। ये समस्या इस मौसम में देखने को नहीं मिलती है। ऐसा ठंड या नम स्थितियों में होता है जब छोटी रक्त वाहिकाओं में सूजन आ जाती है और दर्द भी शुरू हो जाता है। जो अक्सर सर्दियों के मौसम में होता है।

चक्कर आना
कोरोना वायरस का असर दिमाग़ पर भी पड़ता है, जिससे आपको कमज़ोरी लगेगी और चक्कर भी आएंगे। जब शरीर में पानी की कमी या फिर पोषण की कमी हो जाती है, तो कमज़ोरी और चक्कर आने लगते हैं, जो कोविड-19 का लक्षण भी है, जिसे नज़रअंदाज़ नहीं किया जाना चाहिए।

लाल आंखें
ये वायरस सिर्फ नाक या मुंह से ही नहीं, बल्कि आंखों क ज़रिए भी शरीर को संक्रमित कर सकता है। इसलिए कई कोविड-19 मरीज़ों में कंजेक्टीवाइटिस यानी आंखों का इंफेक्शन देखा गया है। 

यह भी पढ़े: इम्यूनिटी बूस्ट करने के लिए फायदेमंद हैं ये विटामिन्स, शरीर में हमेशा इम्यूनिटी बढ़ाने का दवा…

ज़ुकाम और बुखार के साथ ग्रेस्ट्रोइंटेस्टाइनल तकलीफ
एक तरफ फ्लू के होने पर ज़ुकाम, खांसी, बुखार और कमज़ोरी जैसे लक्षण दिखते हैं, लेकिन कोरोना वायरस में इन लक्षणों के साथ पाचन तंत्र भी प्रभावित होता है। ऐसा भी हो सकता है कि बुखार आने से पहले, कब्ज़, उल्टी जैसा या दस्त कोरोना वायरस के आम लक्षण हैं। 

मांस्पेशियों में दर्द
CDC के मुताबिक, कोरोना वायरस शरीर को कई तरह से प्रभावित करता है, ऐसा इसलिए क्योंकि एक साथ ये कई सारे लक्षण देखने को मिलते हैं। जिसकी वजह से कमज़ोरी आ जाती है और मांसपेशियों या हड्डियों में दर्द होने लगता है।

त्वचा पर चकत्ते
इस संक्रमण में त्वचा पर लाल चकत्ते भी देखे जाते हैं। हालांकि, ऐसा कम लोगों में देखा गया है।