Home शेयर बाजार सबकुछ बेचकर डच फैमिली ने Bitcoin पर लगाया था दांव, अब 4...

सबकुछ बेचकर डच फैमिली ने Bitcoin पर लगाया था दांव, अब 4 महादेशों में है सीक्रेट वॉल्‍ट्स

डीडी ताइहुट्टू ने अपनी पत्नी और तीन बच्चों के साथ अपनी सारी संपत्ति बेचकर साल 2017 में क्रिप्टोकरेंसी बिटक्वाइन (Bitcoin) खरीदा था, जब यह लगभग 900 डॉलर पर कारोबार कर रहा था. अब इस डच फैमिली (Dutch Family) ने चार अलग-अलग महादेशों की गुप्त तिजोरियों (Secret Vaults) में अपने क्रिप्टोकरेंसी को रखा है.

ताइहुट्टू ने बताया, ”मैंने कई देशों में हार्डवेयर वॉलेट छुपाए हैं ताकि मुझे बाजार से बाहर निकलने के लिए अपने कोल्ड वॉलेट तक पहुंचने की जरूरत हो, तो मुझे बहुत दूर नहीं जाना पड़ेगा.”

ताइहुट्टू के यूरोप में दो, एशिया में दो, दक्षिण अमेरिका में एक और ऑस्ट्रेलिया में छह हिंडिंग स्पॉट हैं.

हम दफन खजाने की बात नहीं कर रहे हैं. कोई भी साइट जमीन के नीचे या किसी दूरदराज द्वीप पर नहीं है. परिवार ने सीएनबीसी को बताया कि क्रिप्टो स्टैश अलग-अलग तरीकों से और विभिन्न स्थानों में छिपे हुए हैं. ये किराये के अपार्टमेंट और दोस्तों के घरों से लेकर सेल्फ स्टोरेज साइटें हैं. ताइहुट्टू ने कहा, ”मैं एक डिसेंट्रलाइज्ड दुनिया में रहना पसंद करता हूं जहां पूंजी की रक्षा करने की मेरी जिम्मेदारी है.”

हॉट और कोल्ड स्टोरेज

क्रिप्टो कॉइन को स्टोर करने के कई तरीके हैं. कॉइनबेस (Coinbase) और पेपाल (PayPal) जैसे ऑनलाइन एक्सचेंज यूजर्स के लिए टोकन की कस्टडी रखेंगे. जबकि ज्यादा टेक सेवी लोग बिचौलियों से बचकर हार्डवेयर वॉलेट पर अपनी क्रिप्टो कैश रखने का विकल्प चुन सकते हैं. थंब ड्राइव आकार के उपकरण जैसे ट्रेजर या लेजर क्रिप्टो टोकन को सुरक्षित करने का एक तरीका प्रदान करते हैं. दिग्गज पेमेंट कंपनी स्क्वायर भी बिटकॉइन कस्टडी के लिए एक हार्डवेयर वॉलेट बना रही है.

इंटरनेट से जुड़ा होता है हॉट वॉलेट

लोग अपनी क्रिप्टोकरेंसी को हॉट, कोल्ड या दोनों के कॉम्बिनेशन को स्टोर कर सकते हैं. एक हॉट वॉलेट इंटरनेट से जुड़ा होता है और मालिकों को अपने कॉइन तक अपेक्षाकृत आसान एक्सेस की अनुमति देता है ताकि वे अपने क्रिप्टो तक पहुंच सकें और खर्च कर सकें.

ब्लॉकचेन डेटा फर्म चैनालिसिस (Chainalysis) के चीफ इकोनॉमिस्ट फिलिप ग्रैडवेल बताते हैं, ”कोल्ड स्टोरेज अक्सर क्रिप्टो को रेफर करता है जिसे वॉलेट में ले जाया गया है जिसकी प्राइवेट की (Private Keys) यानी पासवर्ड इंटरनेट से जुड़े कंप्यूटरों पर स्टोर नहीं होते हैं, ताकि हैकर्स कंप्यूटर में हैक न कर सकें और प्राइवेट की की चोरी करें.” ग्रैडवेल ने कहा कि एक्सचेंज अक्सर अपने ग्राहकों द्वारा जमा की गई क्रिप्टो को सुरक्षित करने के लिए कोल्ड वॉलेट का उपयोग करेंगे.

ताइहुट्टू फैमिली की 26 फीसदी क्रिप्टो होल्डिंग्स हॉट हैं. वह इस क्रिप्टो स्टैश को अपनी ‘रिस्क कैपिटल’ कहते हैं. वह इन क्रिप्टो कॉइन का उपयोग डे ट्रेडिंग के लिए करता है. ताइहुट्टू के कुल क्रिप्टो पोर्टफोलियो का 74 फीसदी कोल्ड स्टोरेज में है. ये कोल्ड हार्डवेयर वॉलेट दुनिया भर में फैले हुए हैं. इसमें बिटकॉइन, एथेरियम और कुछ लाइटकॉइन शामिल हैं. फैमिली ने यह कहने से इनकार कर दिया कि क्रिप्टो में इसकी कितनी हिस्सेदारी है. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version