Home आध्यात्मिक त्योहार Shardiya Navratri 2021: मां दुर्गा के इन मंत्रों के जाप से मन...

Shardiya Navratri 2021: मां दुर्गा के इन मंत्रों के जाप से मन और आत्मा को मिलेगी शांति

गत 7 अक्टूबर से शारदीय नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है. नवरात्रि के 9 दिनों में माता के विभिन्न 9 स्वरूप मां शैलपुत्री, मां ब्रह्मचारिणी, मां चंद्रघंटा, मां कूष्मांडा देवी, मां स्कंदमाता, मां कत्यायनी, मां कालरात्रि, मां महागौरी और मां सिद्धिदात्री की उपासना की जाती है. हालांकि इन दिनों भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण के चलते शारदीय नवरात्रि की रौनक नहीं दिख रही है. 9 दिनों तक चलने वाले इस त्योहार में मां दुर्गा को प्रसन्न करने के लिए भक्त नियमित तौर पर पूजा-पाठ करते हैं. नवरात्रि में मां दुर्गा को खुश करने के लिए उनके भक्त पूरे नौ दिनों तक व्रत रखते हैं. शारदीय नवरात्रि के मौके पर दुर्गा प्रतिमाएं पंडालों में स्थापित की जाती हैं और फिर उन्हें दशहरा के बाद विसर्जित कर दिया जाता है.

शास्त्रों में नवरात्रि के दिनों में कुछ नियमों का पालन अनिवार्य माना गया है. धार्मिक शास्त्रों के अनुसार, नवरात्रि में मां दुर्गा के कुछ विशेष मंत्रों का जाप किया जाए तो इससे मन और आत्मा दोनों को शांति मिलती है. आइए जानते हैं मां दुर्गा को प्रसन्न करने वाले मंत्रों के बारे में….

देवी दुर्गा के शक्तिशाली मंत्र

-सर्वमंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके।
शरण्ये त्र्यंबके गौरी नारायणि नमोऽस्तुते।।

-ॐ जयन्ती मंगला काली भद्रकाली कपालिनी।
दुर्गा क्षमा शिवा धात्री स्वाहा स्वधा नमोऽस्तुते।।

-या देवी सर्वभूतेषु शक्तिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

-या देवी सर्वभूतेषु लक्ष्मीरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

-या देवी सर्वभूतेषु तुष्टिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

-या देवी सर्वभूतेषु मातृरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

-या देवी सर्वभूतेषु दयारूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

-या देवी सर्वभूतेषु बुद्धिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

-या देवी सर्वभूतेषु शांतिरूपेण संस्थिता,
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नमः।।

  • नवार्ण मंत्र ‘ॐ ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै’

कैसे करें इन मंत्रों का जाप

मां दुर्गा के इन मंत्रों का जाप करने के लिए सुबह स्नान करने के बाद घर में बने पूजा स्थान पर बैठें. दीपक जलाएं और मां दुर्गा को नमन करते हुए किसी भी एक मंत्र का जाप 108 बार करें. मान्यता है कि इन मंत्रों का जाप करने से मन को शांति मिलती है और दिमाग में कई प्रकार की ऊर्जा का संचार होता है. ऐसा कहा जाता है कि मां दुर्गा के इन मंत्रों का जाप नवरात्रि के अलावा बाकि दिनों में किया जाए तो मनुष्य के जीवन से सभी कष्ट मिट जाते हैं. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version