Tilak Lagane ke Niyam: माथे पर तिलक लगाने के 5 फायदे, जानें महत्व और नियम

वैसे तो हिन्दू धर्म (Hindu Dharm) में कई सारी परम्पराएं प्रचलित हैं, और इन्हीं में से एक है माथे पर तिलक लगाने की. अक्सर हम तिलक तब लगाते हैं जब किसी मंदिर (Mandir) में जाते हैं या हमारे घर में पूजा, यज्ञ या हवन इत्यादि होता है. तिलक लगाने की परंपरा भारत (India) में प्राचीन काल से चली आ रही है. पहले के समय में लोग किसी शुभ काम करने से पहले तिलक लगाते थे. राजा महाराजा किसी युद्ध में जाते थे तो पहले अपने पूजनीय देवी-देवता को याद करते और माथे पर तिलक लगाते थे. हिन्दू धर्म पुराणों में पूर्ण विस्तार से माथे पर तिलक लगाने के महत्तव को बताया गया है.

माथे पर तिलक लगाने को लेकर सिर्फ धार्मिक महत्त्व ही नहीं बल्कि इसके महत्त्व को अब वैज्ञानिक भी मानने लगे हैं. माथे पर तिलक लगाने के काफी फायदे होते हैं. आइए जानते हैं कि माथे पर तिलक लगाने के क्या फायदे होते हैं. (Benefits of applying Tilak)

तिलक लगाने के नियम

हमारे शरीर में 7 चक्र होते हैं. इनमें से एक चक्र आज्ञा चक्र होता है जो माथे के बीच में होता है. तिलक हमेशा आज्ञा चक्र पर ही लगाना चाहिए. ज्यादातर अनामिका उंगली से ही तिलक लगाया जाता है. ऐसा करने से मान-सम्मान और प्रतिष्ठा बढ़ती है. अंगूठे से भी तिलक लगाया जाता है. ऐसा करने से ज्ञान प्राप्त होता है. वहीं किसी कार्य में सफलता पाने के लिए तर्जनी उंगली से तिलक लगाया जाता है.

  1. ईश्वर में आस्था का प्रतीक
    धार्मिक पुराणों में तिलक ईश्वर में आस्था का प्रतीक माना जाता है, इसलिए हर शुभ कार्य से पहले तिलक लगाया जाता था. मानना है की माथे पर तिलक लगाने से शांति और ऊर्जा मिलती है. भारत में कई तरह के तिलक प्रचलित है जैसे चंदन, गोपीचन्दन, सिन्दूर, रोली और भस्म का तिलक.
  2. सात्विकता झलकती है
    तिलक लगाने से व्यक्तित्व में सात्विकता झलकती है. तिलक लगाने के कई मनोवैज्ञानिक प्रभाव भी हैं. इससे कॉन्फिडेंस लेवल बढ़ता है. इसके अलावा रोज तिलक लगाने वाले व्यक्ति का दिमाग ठंडा रहता है. प्रतिकूल हालातों में भी मन विचलित नहीं होता व सुकून बरकरार रहता है.
  1. सिरदर्द की शिकायत नहीं रहती
    ऐसा कहा जाता है कि प्रीतिदिन माथे पर तिलक लगाने वाले व्यक्ति को सिरदर्द की शिकायत नहीं रहती है. माथे पर तिलक लगाने से मन में नकारात्मक भाव नहीं आते और आप पूरा दिन साहस से भरे हुए रहते हैं.
  2. पापों से मुक्ति
    हिन्दू शास्त्रों में कहा गया है कि माथे पर चन्दन का तिलक लगाने वाला व्यक्ति पापों से मुक्त होता है. माथे पर हल्दी का तिलक करने से त्वचा और बदन उज्जवल रहता है और हल्दी एंटी बैक्टीरियल भी होती है.
  3. घर में खाने-पीने की कमी नहीं होता
    ऐसा माना जाता है कि जो लोग प्रीतिदिन माथे पर तिलक लगाते हैं, उनके घर में कभी खाने-पीने की कमी नहीं होती है, तिलक लगाने से ग्रहों के दोष से भी मुक्ति मिलती है और भाग्य बलवान होता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें
स्रोतhindi.news18.com
पिछला लेख1 जनवरी से लागू होंगे क्रेडिट-डेबिड कार्ड के नए नियम, आपको कैसे करेंगे प्रभावित, जानें यहां
अगला लेखदैनिक राशिफल 20 दिसंबर 2021: मिथुन राशि के जातक अंजान व्यक्ति ना करें भरोसा, इनका स्वास्थ्य रहेगा अच्छा