Home स्वास्थ्य गले में खराश की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू...

गले में खराश की समस्या से हैं परेशान तो अपनाएं ये घरेलू नुस्खे, जल्द मिलेगा आराम

ठंड के मौसम में सर्दी-जुकाम का होना आम बात है। कई लोगों को इस दौरान गले में दर्द कि शिकायत होती है और इसकी वजह से उन्हें खाने में दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अभी कोरोना वायरस का कहर जारी है। ऐसे में गले में खराश की समस्या को हल्के में नहीं लेना चाहिए। अगर आपको इस तरह की परेशान हो रही है तो आप चिंता ना करें, क्योंकि आज हम आपको कुछ खास घरेलू तरीके बताएंगे जिनकी मदद से आप घर बैठे इस समस्या का समाधान निकाल सकते हैं। जानें वो घरेलू नुस्खे क्या हैं। आइए जानिए ठंड के मौसम में स्किन को ग्लोइंग

नमक के पानी से गरारे

अगर आपके गले में दर्द है, तो आप पानी को गुनगुना करके उसमें थोड़ा नमक मिला लें और गरारे करें। इससे आपके गले में तुरंत राहत मिलेगी। साथ ही गले में दर्द में भी आराम मिलेगा।

शहद

शहद एक एंटीबायोटिक औषधि है। यह लगभग हर घर में मौजूद होता है। चाय में शहद मिलाकर उसका सेवन करें या शहद को ऐसे भी चख सकते हैं। एक शोध के अनुसार रात में आने वाली खांसी से गले में दर्द होने पर शहद का सेवन करें। इससे दर्द में जल्द राहत मिलती है। शहद गले को ठंडक देता है।

भाप लेना

गला खराब होने पर भाप लेने से गले में आई सूजन, खराश या किसी वजह से गला सूख गया है तो यह तरीका राहत देता है।

अधिक लिक्विड पीना

आप जितने तरल पदार्थों का सेवन करेंगे आपके गले को उतना सुकून मिलेगा। इसलिए जरूरी है कि आप तरल पदार्थों का सेवन करें और शरीर को आराम भी दें।

तेज लाल मिर्च

लाल मिर्च सुनते ही आप घबरा गए होंगे। पर घबराइये मत। लाल मिर्च को गुनगुने पानी में शहद के साथ मिलाकर सेवन करने से गले में होने वाले दर्द को जल्दी फायदा होता है। लाल मिर्च में रासायनिक मिश्रण कपेसाइसिन होता है जिससे गले को राहत मिलती है।

नींबू और पानी

एक चम्मच नींबू का जूस एक कप पानी में मिलाकर गरारे करें। यह एक औषधि है जिससे कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है और गले में आने वाली सूजन को कम करता है।

हल्दी और पानी

हल्दी एक ऐसी औषधि है जो हर घर में पाई जाती है। आधा चम्मच हल्दी और आधा चम्मच नमक एक कप गुनगुने पानी में मिलाकर गरारे करें। ऐसा करने से गले में आई सूजन का दर्द कम हो जाता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version