बढ़े हुए यूरिक एसि़ड को कंट्रोल करने में कारगर सेब का सिरका, रोजाना ऐसे करें सेवन

हम जो कुछ खाते हैं उससे यूरिक एसिड बनता है। यूरिक एसिड को किडनी फिल्टर करती है और बॉडी के बाहर निकाल देती है। लेकिन जब किडनी यूरिक एसिड को फिल्टर नहीं कर पाती तो यह शरीर में एकत्रित हो जाता है। जिसके कारण एड़ियों में तेज दर्द शुरू हो जाता है। पैरों में सूजन आ जाती है, शुगर हाई हो जाती है, किडनी में स्टोन के साथ किडनी के फेल होने का खतरा बढ़ जाता है।

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

एक रिसर्च की मानें तो हाई यूरिक एसिड जिंदगी को 11 साल कम कर देता है और किडनी के साथ साथ हार्ट की बीमारियों, डायबिटीज़, स्ट्रोक का रिस्क भी कई गुना बढ़ा देता है। इसलिए जरूरी है कि समय रहते इस समस्या से छुटकारा पाया जाए।

बढ़े हुए यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए कई तरह के उपाय अपनाते हैं। आप चाहे तो सेब के सिरका को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। इससे आपका यूरिक एसिड नैचुरल तरीके से कंट्रोल हो जाएगा।

यूरिक एसिड में कैसे कारगर होगा सेब का सिरका?

सेब के सिरके में अधिक मात्रा में एंटी-ऑक्सीडेंट्स और एंटी-इंफ्लेमेंटरी गुण होते हैं। जो शरीर में मौजूद यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के साथ खून में पीएच लेवल को बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा इसका सेवन करके वजन कम के साथ-साथ डायबिटीज, कोलेस्ट्राल, गले की खराश जैसी समस्याओं को भी कंट्रोल करता है।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

यूरिक एसिड के मरीज ऐसे करें सेब के सिरका का सेवन

सेब के सिरका सेवन विभिन्न तरीके से कर सकते हैं। रोजाना सुबह एक गिलास पानी में 2-3 चम्मच सेब का सिरका डालकर पी लें। शुरुआत में बहुत ही कम मात्रा 5-10 एमएल ही लें। आप चाहे तो खाना खाने के 1 या आधा घंटा पहले कर सकते हैं। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखVaishakha Amavasya 2021: 11 मई को वैशाख मास की अमावस्या पर करें पिंड दान, जानें तर्पण विधि
अगला लेखदैनिक राशिफल 11 मई 2021: वृश्चिक राशि वालों की किस्तम आज देगी साथ, जानें अन्य राशियों का हाल