हाथरस केस में सिर्फ पुलिस पर एक्शन, DM पर क्यों नहीं? IPS एसोसिएशन नाराज

हाथरस केस में पीड़ित परिवार द्वारा प्रशासन पर लगाए गए आरोपों के बाद कई पुलिस अधिकारियों पर कार्रवाई की गई, जिसे लेकर IPS एसोसिएशन नाराज है। सूत्रों के अनुसार, IPS एसोसिएशन का मानना है कि पुलिसकर्मियों पर एकतरफा कार्रवाई की गई जबकि मामले की जिम्मेदारी पूरे प्रशासन पर तय होनी चाहिए थी। अगर एसपी पर कार्रवाई हो सकती है तो डीएम पर क्यों नहीं?, आइए जानिए वास्तु टिप्स.

hasthras case

सूत्रों के अनुसार, IPS एसोसिएशन का मानना है कि अगर कोई लापरवाही हुई है तो सिर्फ पुलिस महकमा ही उसके लिए कैसे जिम्मेदार है? एसोसिएशन का मानना है कि आदेश प्रशासनिक होते हैं और पुलिस महकमा उन आदेशों को लागू करवाता है। कार्रवाई सिर्फ पुलिस पर हुई जबकि किसी भी मामले में सभी फैसले जिला प्रशासन करता है, पुलिस महकमा अकेले नहीं करता। Reach out to the best Astrologer at Jyotirvid.

हाथरस की घटना पर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने शुक्रवार को कड़ा रुख अख्तियार करते हुए पुलिस अधीक्षक, तत्‍कालीन क्षेत्राधिकारी और प्रभारी निरीक्षक समेत कई जिम्‍मेदार अधिकारियों को निलंबित करने का आदेश दिया जिसके बाद इन अधिकारियों को निलंबित कर दिया गया था। अपर मुख्‍य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्‍थी ने शुक्रवार को इस फैसले की जानकारी दी।

rgyan app

मुख्‍यमंत्री ने हाथरस की घटना की जांच के लिए एसआईटी टीम गठित की थी। एसआईटी की रिपोर्ट मिलने के बाद लापरवाही और ढिलाई बरतने के आरोप में पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर, तत्‍कालीन क्षेत्राधिकारी राम शब्‍द, तत्‍कालीन प्रभारी निरीक्षक दिनेश कुमार वर्मा, वरिष्‍ठ उपनिरीक्षक जगवीहर सिंह, हेड मुहर्रिर महेश पाल को निलंबित कर दिया गया है। विनीत जायसवाल को हाथरस का नया पुलिस अधीक्षक बनाया गया है।

हालांकि, आपको बता दें कि पीड़ित परिवार की ओर से जिलाधिकारी पर धमकाने के आरोप लगे हैं। पीड़िता के भाई ने इंडिया टीवी से बात करते हुए शनिवार को डीएम और एसडीएम को बर्खास्त करने की मांग की थी। पीड़िता के भाई ने बताया कि जब डीएम साहब से परिवार ने शव न देख पाने की शिकायत की तो उन्होंने बोला कि आप लोग पोस्टमार्टम का मतलब जानते भी हो क्या? पोस्टमार्टम के बाद शव इस तरह क्षत विक्षत हो जाता है कि आप उसे देखकर 4 दिन तक खाना न खा पाते। और अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here