रामपुर शाही परिवार की संपत्ति का मूल्य 2664 करोड़ रुपये आंका गया

उत्तर प्रदेश के रामपुर के शाही परिवार की संपत्ति का मूल्याकंन 2664 करोड़ रुपये हुआ है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, रामपुर के जिला और सत्र न्यायाधीश के समक्ष प्रस्तुतियों में, अदालत द्वारा नियुक्त आयुक्तों ने शनिवार को रामपुर के आखिरी नवाब की संपत्ति का अनुमान लगाया। सुप्रीम कोर्ट ने दावेदारों के बीच संपत्ति के बंटवारे के लिए जो दिसंबर की समय सीमा तय की थी, उसे पूरा करने के लिए अदालत अब रोजाना सुनवाई करेगी। रामपुर के नवाब रजा अली खान 1949 में आजादी के बाद भारत में पहली बार इस शर्त पर शामिल हुए थे कि दो चीजें नहीं बदलेंगी – संपत्ति का स्वामित्व और प्राइमजेनिचर का अधिकार। आइए जानिए सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार.

Not-satisfied-with-your-name-or-number

48 साल हो गए मुकदमा लड़ते-लड़ते

बता दें कि रामपुर के नवाब रजा अली खान के सन् 1966 में निधन के बाद इन दोनों शर्तों ने एक विवाद को जन्म दिया। इसके बाद देश में सबसे लंबे समय तक चलने वाले सिविल सूट्स में से एक शुरू हुआ जो अब अपने 48वें वर्ष में है। नवाब रजा अली खान की मौत के बाद उनके परिवार में 6 बेटियां और 3 बेटे रह गए। नवाब की 5 संपत्तियों में 18 दावेदार हैं, जिनमें पूर्व सांसद बेगम नूर बानो और पूर्व विधायक काजिम अली खान शामिल हैं।

rgyan app

1,435 करोड़ रुपये का है खासबाग पैलेस

अचल संपत्तियों के लिए कोर्ट द्वारा नियुक्त आयुक्त अरुण प्रकाश सक्सेना के मुताबिक, खासबाग पैलेस 350 एकड़ जमीन में है, बेनजीर कोठी और बाग 100 एकड़ जमीन पर हैं, शाहबाद कैसल 250 एकड़, कुंडा बाग 12,000 वर्ग मीटर और नवाब का निजी रेलवे स्टेशन 19,000 वर्ग मीटर में बना हुआ है। इन अचल संपत्तियों की कीमत लगभग 2,600 करोड़ रुपये आंकी गई है। खासबाग पैलेस की कीमत 1,435 करोड़ रुपये आंकी गई है। इस महल का निर्मण 1930 तक कई चरणों में हुआ था। इनके अलावा चल संपत्तियों में कई विंटेज कारें, ट्रक, सिंहासन, सोने से जड़े सिगरेट केस, मूर्तियां, कालीन और तमाम चीजें शामिल हैं। इन सबकी कीमत भी करोड़ों में आंकी गई है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखशेयर बाजार: तेज शुरुआत के बाद सुस्ती, कोरोना ने बढ़ाई चिंता
अगला लेखCoronavirus: दिल्ली और महाराष्ट्र के बाद गुजरात में सबसे खराब हालात, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई फटकार