Home राजनीति गोरखपुर में शिवपाल यादव ने कहा, योगी आदित्यनाथ की भाषा संतों वाली...

गोरखपुर में शिवपाल यादव ने कहा, योगी आदित्यनाथ की भाषा संतों वाली नहीं है

प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के मुखिया शिवपाल सिंह यादव ने गुरुवार को कहा कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वैसे तो संत हैं, लेकिन उनकी भाषा संतों वाली बिल्कुल भी नहीं है। यूपी के पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों के चलते लाखों मजदूर सड़क पर आ गए हैं। शिवपाल ने गोरखपुर में कहा,‘मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ वैसे तो संत हैं लेकिन वह जिस भाषा का इस्तेमाल करते हैं, वह संतो वाली कतई नहीं है। योगी अकसर ‘ठोक दो’ की बात करते हैं। प्रदेश में अपराधियों के करीबी लोगों के मकान तोड़े जा रहे हैं जबकि उन लोगों ने कुछ भी गलत नहीं किया है।’

‘बीजेपी के विधायक भी पार्टी से खुश नहीं हैं’

शिवपाल ने एक सवाल पर कहा कि उनकी पार्टी ने समाजवादी पार्टी के पास गठबंधन के लिए एक प्रस्ताव भेजा है और यह गठबंधन प्रदेश में अगली सरकार बनाएगा। उन्होंने बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए कहा कि उसकी गलत नीतियों की वजह से देश में महंगाई चरम पर पहुंच गई है और राम राज्य के तमाम वादे कोरे साबित हुए हैं। शिवपाल ने कहा कि सरकार की गलत नीतियों की वजह से लाखों मजदूर सड़क पर आ गए हैं। उन्होंने दावा किया कि बीजेपी के विधायक उससे खुश नहीं हैं और पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में उनकी अंतरकलह सामने आ गई है। शिवपाल ने कहा कि तृणमूल कांग्रेस वहां एक बार फिर पश्चिम बंगाल में सरकार बनाएगी।

‘हम सपा के साथ गठबंधन करेंगे’

बता दें कि शिवपाल ने पहले भी कई मौकों पर कहा है कि वह समाजवादी पार्टी के साथ गठबंधन करेंगे। उनके इस बयान के जवाब में कुछ समय पहले समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष और उनके भतीजे अखिलेश यादव ने कहा था, ‘2022 के विधान सभा चुनाव में शिवपाल सिंह यादव से गठबंधन के लिए वह तैयार हैं। सरकार बनने पर उन्‍हें मंत्री भी बनाएंगे। उनके अलावा अगर कोई जीतने लायक उनका उम्‍मीदवार होगा तो उसके लिए भी गठबंधन में सीट छोड़ेंगे।’ अखिलेश के अलावा AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी से मुलाकात के बाद शिवपाल ने कहा था कि समान विचारधारा और सभी धर्मनिरपेक्ष शक्तियों के लोग मिलकर भारतीय जनता पार्टी को देश और प्रदेश से उखाड़ फेंकेंगे। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

Exit mobile version