उत्तर प्रदेश में 2.5% से भी नीचे आ गई कोरोना संक्रमण की दर, लगातार कम हो रहे हैं मामले

देश में सबसे ज्यादा जनसंख्या वाले राज्य उत्तर प्रदेश में कोरोना के बढ़ते मामले पहले चिंता का कारण बने हुए थे लेकिन अब राज्य में कोरोना संक्रमण काबू में होता नजर आ रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार राज्य में कोरोना वायरस के संक्रमण की दर अब 2.5 प्रतिशत से भी नीचे आ गई है। आंकड़ों के अनुसार पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में संक्रमण की दर 2.45 प्रतिशत दर्ज की गई है। एक समय उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस के संक्रमण की दर 22 प्रतिशत के ऊपर पहुंच गई थी।

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

राज्य की योगी सरकार ने कोरोना वायरस को काबू में करने के लिए ट्रेसिंग, टेस्टिंग और ट्रीटमेंट का जो फार्मूला अपनाया है वह काम करता हुआ नजर आ रहा है। राज्य में कोरोना वायरस की रिकवरी की दर 91 प्रतिशत के ऊपर आ गई है। राज्य सरकार का दावा है कि अन्य राज्यों में जहां कोरोना के कम टेस्ट हो रहे हैं वहीं उत्तर प्रदेश में टेस्टिंग को तेजी से बढ़ाया गया है।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल उठाए जा रहे थे कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना की टेस्टिंग कम हो रही है और वहां पर संक्रमण ज्यादा है, इसपर राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 299327 कोरोना टेस्ट हुए हैं और इनमें 2 लाख से ज्यादा टेस्ट राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में ही किए गए हैं।

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर सवाल उठाए जा रहे थे कि ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना की टेस्टिंग कम हो रही है और वहां पर संक्रमण ज्यादा है, इसपर राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 299327 कोरोना टेस्ट हुए हैं और इनमें 2 लाख से ज्यादा टेस्ट राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों में ही किए गए हैं।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से दी गई जानकारी के अनुसार राज्य में कोरोना के एक्टिव मामलों में तेजी से गिरावट देखी जा रही है, रिकॉर्ड स्तर से एक्टिव मामलों में 1.86 लाख की कमी आ चुकी है। उत्तर प्रदेश सरकार की तरफ से जारी आंकड़ों के अनुसार राज्य के 47 जिले ऐसे हैं जहां पर रोजाना आने वाले नए कोरोना मामलों का आंकड़ा सिंगल डिजिट में है और 4 जिलों में आंकड़ा डबल डिजिट में है। कुछ जिलों में मामले अभी ज्यादा है लेकिन किसी भी जिले में रोजाना 1000 के ऊपर मामले नहीं आ रहे। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखसिंगापुर पर केजरीवाल का बयान गैर जिम्मेदाराना, पुरानी मित्रता को कर सकता है डैमेज: विदेश मंत्री
अगला लेखकोरोना से संक्रमित के अलावा इन रोगों से शिकार लोगों को ब्लैक फंगस का अधिक खतरा