Vaisakh Month 2021: वैशाख माह हो चुका है शुरू, धन-समृद्धि और अच्छे स्वास्थ्य के लिए इस माह जरूर करें इनमें से कोई एक उपाय

वैशाख कृष्ण पक्ष की द्वितीया तिथि और बुधवार का दिन है | द्वितीया तिथि आज देर रात 1 बजकर 34 मिनट तक रहेगी | उसके बाद तृतीया तिथि शुरू हो जायेगी । आज दोपहर 3 बजकर 51 मिनट तक व्यतिपात योग रहेगा । वैशाख महीने की शुरुआत हो चुकी है | हमारी संस्कृति में वैशाख मास का बहुत महत्व है । शास्त्रों में वैशाख मास के दौरान किये जाने वाले बहुत-से यम-नियम आदि का जिक्र भी किया गया है | वैशाख मास का क्या महत्व है, इस दौरान किन नियमों का पालन करना चाहिए और उन नियमों का पालन करने से आपको कौन-से शुभ फलों की प्राप्ति होगी।

astrologi report

वैशाख मास के दौरान भगवान विष्णु की पूजा का विधान है। इस दौरान भगवान विष्णु की माधव नाम से पूजा की जाती है। बता दूं कि वैशाख मास का एक नाम माधव मास भी है। स्कन्द पुराण के वैष्णव खण्ड में भी आया है-

न माधवसमो मासो न कृतेन युगं समम्।

न च वेदसमं शास्त्रं न तीर्थं गंगया समम्।।

अर्थात् माधवमास, यानि वैशाख मास के समान कोई मास नहीं है, सतयुग के समान कोई युग नहीं है, वेदों के समान कोई शास्त्र नहीं है और गंगाजी के समान कोई तीर्थ नहीं है । इस माह के दौरान आपको… ऊँ माधवाय नमः…. मंत्र का नित्य ही कम से कम 11 बार जप करना चाहिए।

rgyan app

जानिए वैशाख महीने के दौरान किये जाने वाले खास उपायों के बारे में

अगर आप अपने करियर की तरक्की सुनिश्चित करना चाहते है तो वैशाख मास के दौरान तुलसीपत्र से श्री विष्णु के माधव स्वरूप की पूजा करें। साथ ही भगवान विष्णु के केशव और गोविंद नाम का ध्यान करें। आपको बता दूं कि कभी भी भगवान विष्णु के एक नाम का ध्यान नहीं करना चाहिए। लिहाजा जब भी भगवान विष्णु के किसी नाम का ध्यान करें, तो उसके साथ ही श्री हरि के दो और नामों का भी ध्यान करें ।
अगर आप चाहते है कि- आपके जीवन में कभी कोई संकट न आये, इसके लिये वैशाख मास के दौरान भगवान विष्णु को पंचामृत का भोग लगाएं और उस पंचामृत में तुलसी पत्र डालना न भूलें । इसके अलावा आपको श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ भगवान के दामोदर और नारायण स्वरूप का ध्यान करना चाहिए।
अगर आप अपने बिजनेस की गति को बढ़ाना चाहते है तो आपको वैशाख मास में श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ त्रिविकरम और हृषिकेष का ध्यान करना चाहिए। साथ ही भगवान विष्णु की तुलसीपत्र से पूजा करनी चाहिए।
अगर आप अपनी आर्थिक स्थिति बेहतर करना चाहते है तो आपको वैशाख मास के दौरान श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ गोविंद और नारायण का ध्यान करना चाहिए। साथ ही श्री हरि को आटे से बनी पंजीरी में तुलसी दल डालकर भोग लगाना चाहिए।
अगर आप अपने दाम्पत्य जीवन की ऊष्मा को बनाये रखना चाहते है तो आपको वैशाख मास के दौरान श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ अच्युत और मधुसूदन का ध्यान करना चाहिए। साथ ही भगवान विष्णु की तुलसीपत्र से पूजा करनी चाहिए और उन्हें सफेद या पीले फूल अर्पित करने चाहिए।
अगर आप अपने किसी सरकारी कार्य को बिना अड़चनों के पूरा करना चाहते है तो वैशाख मास के दौरान श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ अनंत और श्रीधर का ध्यान करना चाहिए । साथ ही तुलसीपत्र से श्री हरि की पूजा करनी चाहिए।
अगर आप किसी भी तरह के कॉम्पिटिशन में अपनी जीत सुनिश्चित करना चाहते है तो वैशाख मास के दौरान श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ पद्मानाभ और हृषिकेष का ध्यान करना चाहिए। साथ ही भगवान को गंध और तुलसीपत्र अर्पित करना चाहिए।
अगर आप अपने कारोबार को ऊँचे मुकाम तक पहुंचाना चाहते है तो वैशाख मास के दौरान श्री विष्णु के माधव स्वरूप के साथ त्रिविकरम और मधुसूदन का ध्यान करना चाहिए। साथ ही भगवान विष्णु की तुलसीपत्र से पूजा करनी चाहिए। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखVastu Tips: घर पर इस तरह रखें हाथी की मूर्तियां, सुख-समृद्धि के दांपत्य जीवन में बढ़ेगा प्यार
अगला लेखइन पांच जगहों पर कभी नहीं रुकती हैं मां लक्ष्मी, तुरंत करें ये बदलाव