वास्तु टिप्स: होटल में पूजा घर ईशान कोण में बनवाना होता है शुभ

वास्तु शास्त्र में कल हमने बात की थी होटल में सीढ़ियों व लिफ्ट की दिशा के बारे में और आज हम बात करेंगे होटल में पूजा घर व कैफिटेरिया की दिशा के बारे में। आप चाहें कहीं भी रहें, कुछ भी करें, लेकिन भगवान को याद जरूर करें। उस ईश्वर को जरूर याद करें जिसकी वजह से ये सारा संसार, ये प्रकृति अस्तित्व में आई है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार होटल हो, घर या फिर कोई ऑफिस, सभी जगह पूजा घर के लिये ईशान कोण का चुनाव करना सबसे अच्छा रहता है। ईशान कोण को देवताओं का स्थान माना जाता है। इस दिशा में मंदिर का निर्माण करवाने से सकारात्मक ऊर्जा बनी रहती है। आजकल ओपन कैफिटेरिया या रेस्टोरेंट का चलन काफी बढ़ रहा है। शादी हो या जन्मदिन सबके लिये ओपन स्पेस का ही चुनाव किया जाने लगा है। इस तरह की व्यवस्था के लिये पूर्व या उत्तर दिशा में जगह छोडनी चाहिए।