Vastu Tips: नवरात्र पर कहीं आपने गलत दिशा में तो नहीं जलाई है अखंड ज्‍योति?, जानिए सही दिशा

नवरात्र के दूसरे दिन वास्तु शास्त्र में आइए जानिए अखंड ज्योति और पूजा सामग्री के बारे में। नवरात्र के दौरान अधिकतर लोग अखंड ज्योति की स्थापना करते हैं और इसकी स्थापना के लिये वास्तु शास्त्र का खास ध्यान रखना पड़ता है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार अखंड ज्योति की स्थापना के लिये आग्नेय कोण, यानि दक्षिण-पूर्व दिशा का चुनाव करना सबसे अच्छा माना जाता है। इस दिशा में अखंड ज्योति की स्थापना करने से घर में सुख-समृद्धि का वास होता है और शत्रुओं पर विजय प्राप्त होती है।

वास्तु के अनुसार पूजा संबंधी सभी सामग्री को पूजा कक्ष के दक्षिण-पूर्व दिशा में रखें। देवी मां को प्रसन्न करने के लिये पूजा की सारी सामग्री इसी दिशा में रखनी चाहिए। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

astro

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखAaj Ka Panchang 8 October 2021: जानिए शुक्रवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल
अगला लेखStock Market Today- सेंसेक्स 60,000 प्वाइंट्स के करीब खुला, निफ्टी 17,880 के पार, RBI policy पर है नजर