Vastu Tips: इन 7 टूटी-फूटी चीजों को घर में कभी न रखें, नहीं रुकता पैसा

अक्‍सर हमारे घरों में ऐसा देखने को मिलता है कि हमारे कुछ वस्‍तुएं टूटी-फूटी और बेकार की होती हैं और उनका कोई प्रयोग नहीं करता, फिर भी वह घर के किसी कोने में पड़ी रहती है। वास्‍तु शास्त्र के अनुसार, घर में इन वस्‍तुओं का टूटी फूटी अवस्‍था में पड़े रहना बेहद अशुभ माना जाता है।

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

अगर ये चीजें घर में होती हैं तो इनका नकारात्मक असर परिवार के सभी सदस्यों पर होता है। जिससे मानसिक तनाव बढ़ता है और कार्यों में गति नहीं बन पाती है। इसी वजह से धन संबंधी कार्यों में भी असफलता के योग बनते हैं। यहां जानिए ये 7 चीजें कौन-कौन सी हैं।

टूटे-फूटे बर्तन

वास्तु शास्त्र के अनुसार, कई लोग घर में टूटे-फूटे बर्तन भी बर्तन भी रखे रहते हैं जो कि अशुभ प्रभाव देते हैं शास्त्रों के अनुसार घर में टूटे-फूटे बर्तन नहीं रखना चाहिए।यदि ऐसे बर्तन घर में रखे जाते हैं तो इससे महालक्ष्मी अप्रसन्न होती हैं और दरिद्रता का प्रवेश हमारे घर में हो सकता है।

टूटा हुआ दर्पण

टूटा हुआ दर्पण रखना वास्तु के अनुसार एक बड़ा दोष है। इस दोष के कारण घर में नकारात्मक ऊर्जा सक्रिय रहती है और परिवार के सदस्यों को मानसिक तनाव का सामना करना पड़ता है।

पलंग

वैवाहिक जीवन में सुख-शांति के लिए जरूरी है कि पति-पत्नी का पलंग टूटा हुआ बिल्कुल न हो। यदि पलंग ठीक नहीं होगा तो पति-पत के वैवाहिक जीवन में परेशानियां आने की संभावनाएं काफी बढ़ जाती हैं।

घड़ी

खराब घड़ी घर में नहीं रखना चाहिए। ऐसा माना जाता है कि घड़ियो की स्थिति से हमारे घर-परिवार की उन्नति निर्धारित होती है।

Get-Detailed-Customised-Astrological-Report-on

तस्वीर

अगर घर में कोई टूटी हुई तस्वीर हो तो उसे भी घर से हटा देना चाहिए। वास्तु के अनुसार यह भी वास्तुदोष उत्पन्न करती है।

फर्नीचर

घर का फर्नीचर भी एकदम सही हालत में होना चाहिए। वास्तु के अनुसार फर्नीचर की टूट-फूट का भी बुरा असर हमारे जीवन पर होता है। वास्तुदोष उत्पन्न होने पर घर-परिवार के सदस्यों को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखआज का पंचांग, 5 जून 2021: शनिवार को करें शनिदेव की पूजा, जानें शुभ और अशुभ समय
अगला लेखशनि देव को प्रसन्न करने के लिए करें शनि चालीसा का पाठ, बनेंगे बिगड़े काम, मिटेंगे दुख