वास्तु टिप्स: तकिए के नीचे घड़ी को कभी ना रखें, पड़ सकता हैं आपके दिल और दिमाग पर बुरा असर

वास्तु शास्त्र में आज आचार्य इंदु प्रकाश से जानिए कलाई में पहनी जाने वाली घड़ी के बारे में। आमतौर पर देखा गया है कि लोग अपने हाथ में पहनी जाने वाली घड़ी को सोते समय अपने तकिये के नीचे रखकर सोते हैं | लेकिन वास्तु शास्त्र के अनुसार घड़ी को कभी भी तकिये के नीचे रखकर नहीं सोना चाहिए। 

तकिये के नीचे घड़ी रखकर सोने से उसकी आवाज़ नींद में खलल तो डालती ही है, साथ ही उससे निकलने वाली इलेक्ट्रो मैग्नेटिक तरंगें हमारे दिमाग और हृदय पर बुरा प्रभाव भी डालती हैं | इन तरंगों के चलते पूरे कमरे में नेगेटिव ऊर्जा पैदा हो जाती है जो आपकी मन की शांति को भंग कर देती है और तनाव पैदा कर देती है। साथ ही आपकी विचारधारा को नकरात्मक बना देती है।

घड़ी लगाने की अशुभ दिशा
वास्तु शास्त्र के अनुसार, घर या ऑफिस की दक्षिणी दिशा की दीवार पर घड़ी नहीं लगानी चाहिए | क्योंकि दक्षिण दिशा को यम की दिशा माना जाता है और हिन्दू शास्त्रों में यम कोमृत्यु का देवता माना गया है | इस दिशा में घड़ी लगाने से बिजनेस के मार्ग में बाधाएं आनी शुरू हो जाती हैं। साथ ही घर के लोगों पर भी इसका नकारात्मक असर पड़ता है | घर की दक्षिण दिशा के अलावा घर के मुख्य दरवाजें के ऊपर भी घड़ी न लगाएं। 

घड़ी लगाने की सही दिशा
वास्तु के अनुसार घड़ी को घर या ऑफिस की पूर्वी, पश्चिमी या उत्तरी दिशा की दीवार पर लगाना चाहिए। ये दिशाएं घर में सकारात्मक ऊर्जा लाने का काम करती हैं। इसके साथ ही इन दिशाओं में घड़ी लगाने से हमारा समय अच्छा बना रहता है और सारे काम भी बिना किसी अड़चन के अच्छे से हो जाते हैं।