वास्तु टिप्स:स्टडी रूम में इन रंगों के प्रयोग से बढ़ती है बच्चों की अध्ययन क्षमता

घर में हर एक कोने का अपना एक अलग महत्त्व होता है। वास्तु शास्त्र में आज जानिए स्टडी रूम यानि की अध्ययन कक्ष के रंग के बारें में। स्टडी रूम वह जगह होती है जहां हम शांति से बिना किसी शोर-शराबे और दखल के आराम से अध्ययन कर सकते हैं। इसके लिए स्टडी रूम का वातावरण अच्छा और शांतमय होना चाहिए।

स्टडी रूम को पढ़ने लायक बनाने में रंगों का भी बहुत ही महत्त्वपूर्ण रोल होता है। यह बच्चों के लिए भी एक अहम हिस्सा माना जाता है। यदि स्टडी रूम आकर्षित दिखेगा तो बच्चों को बोरियत नहीं होगी और उनका मन भी पढ़ाई में अधिक लगेगा।

स्टडी रूम के लिए हल्के रंगों का प्रयोग करना बेहतर माना जाता है। अध्ययन कक्ष के लिए क्रीम कलर, हल्का जामुनी, हल्का हरा, आसमानी, पीला, बादामी या भूरा रंग का चयन करना चाहिये, क्योंकि हल्का रंग वास्तु की दृष्टि से शुभ माना जाता है और खासकर पीला रंग। यह रंग बच्चों की अध्ययन क्षमता को बढ़ाने में मदद करता है। इसके साथ ही स्टडी रूम में तस्वीरों का चुनाव करते समय बहुत ध्यान रखना चाहिए, क्योंकि जैसी तस्वीरें आप वहां पर लगाएंगे, बच्चे का मन भी पढ़ाई में उसी हिसाब से लगेगा। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.com
पिछला लेखAaj Ka Panchang 5 January 2022: जानिए बुधवार का पंचांग, शुभ मुहूर्त और राहुकाल
अगला लेखMarket Update: सपाट खुले शेयर बाजार, रियल्टी और फार्मा में तेजी, आईटी सेक्टर में कमजोरी