वास्तु टिप्स: पेट से संबंधित परेशानियों से पाना है छुटकारा, नैऋत्य कोण में इस रंग की मोमबत्ती लगाना माना जाता है शुभ

वास्तु शास्त्र में कल बात की थी वायव्य कोण, यानी उत्तर-पश्चिम दिशा में सफेद रंग के कैंडल्स लगाने के बारे में और आज हम बात करेंगे नैऋत्य कोण, यानी दक्षिण-पश्चिम दिशा में कैंडल्स लगाने के बारे में। वास्तु शास्त्र के अनुसार नैऋत्य कोण, यानी दक्षिण-पश्चिम दिशा में पीले रंग की कैंडल्स लगाना अच्छा माना जाता है।

दरअसल, नैऋत्य कोण का संबंध पृथ्वी तत्व से है और पृथ्वी का संबंध पीले रंग से है। अतः नैऋत्य कोण, यानी दक्षिण-पश्चिम दिशा में पीले रंग की कैंडल्स का इस्तेमाल करना चाहिए। इस दिशा में पीले रंग की कैंडल्स लगाने से हमारे लिवर का सिस्टम ठीक रहता है और पेट से संबंधी परेशानियों से छुटकारा मिलता है। साथ ही माता की सेहत भी अच्छी बनी रहती है। वास्तु शास्त्र में कल हम बात करेंगे ईशान कोण, यानी उत्तर-पूर्व दिशा में कैंडलस लगाने के बारे में।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here