बिजनेस में करना पड़ रहा है आर्थिक समस्याओं का सामना तो आप कर सकते हैं ये खास उपाय

आज ज्येष्ठ शुक्ल पक्ष की षष्ठी तिथि और गुरूवार का दिन है। आज के दिन को बंगाल मेंजामात्रि षष्ठी के रूप में मनाया जाता है। आज स्कन्द षष्ठी का व्रत भी है, जिसको अरण्य या चन्दन षष्ठी के नाम से भी जाना जाता है। आज के दिन माता विन्ध्यवासिनी का पूजा-अर्चना करने का भी विधान है। आज के दिन माता विन्ध्यवासिनी का विधि पूर्वक पूजा करने से आपके जीवन में चल रही समस्त समस्यायों का समाधान निकलेगा।

पूरे दिन और आधी रात तक ध्रुव योग रहेगा। किसी भी स्थिर कार्य जैसे किसी भवन या इमारत आदि का निर्माण करने के लिए इस योग को अच्छा माना जाता है, लेकिन कोई भी अस्थिर कार्य जैसे कोई गाड़ी अथवा वाहन इस योग में लेना ठीक नहीं होता। साथ ही आज पूरे दिन पूरी रात सभी काम बनाने वाला रवि योग भी रहेगा। इस योग की पॉजिटिविटी से आप अपना किसी भी तरह का काम सफल बना सकते हैं और तरक्की कर सकते हैं।

इसके के आलावा आज आश्लेषा नक्षत्र रहेगा। आश्लेषा नक्षत्र आज सुबह 7 बजकर 28 मिनट से शुरू होकर कल की सुबह 6 बजकर 58 मिनट तक रहेगा। आश्लेषा नक्षत्र पांच तारों का एक समूह है। यह दिखने मे चक्र के समान प्रतीत होता है। इस नक्षत्र का स्वामी ग्रह बुध है और बुध को वाणी और विपणन का कारक माना गया है। इस नक्षत्र में जन्में जातक सफल व्यापारी, चतुर अधिवक्ता, भाषण कला में निपुण होते हैं। ये दूसरों पर आसानी से विश्वास नहीं करते। यह धन दौलत से परिपूर्ण होते हैं तथा इनका जीवन वैभव से युक्त होता है। इनमें अच्छी निर्णय क्षमता पायी जाती है जो इन्हें सफलता तक पहुँचाती है।

इसके आलावा आश्लेषा नक्षत्र में जन्म लेने वाली स्त्री का व्यक्तित्व आकर्षक होता है और अपने स्वभाव से सभी का मोह लेने वाली होती है। यह संस्कारी और सभी का सम्मान करने वाली होती। इस नक्षत्र मे जन्मी कन्या बहुत भाग्यशाली होती हैं यह जिस घर में जाती है। वहां लक्ष्मी का वास होता है वह घर धन धान्य से भर जाता है। पेड़ पौधों में आश्लेषा नक्षत्र का संबंध नागकेसर के पेड़ से बताया गया है। लिहाजा जिन लोगों का जन्म आश्लेषा नक्षत्र में हुआ हो उन्हे सदैव ही नाग केसर के पेड़ की उपासना करनी चाहिए।

आज के दिन विन्ध्यवासिनी पूजा, अरण्य षष्ठी, ध्रुव योग, रवि योग और आश्लेषा नक्षत्र के संयोग में विभिन्न राशि वालों को अलग-अलग शुभ फलों की प्राप्ति के लिये आपको क्या उपाय करने चाहिए। जानिए इस बारे में आचार्य इंदु प्रकाश से। 

अगर पिछले कुछ दिनों से आपको कारोबार में सफलता नहीं मिल पा रही है, आपके काम नहीं बन पा रहे हैं, तो आज के दिन आश्लेषा नक्षत्र के दौरान आपको घर के एकांत स्थान पर बैठकर सिद्धकुंजिका स्तोत्र का पाठ करना चाहिए। आज के दिन ऐसा करने से आपको अपने कारोबार में सफलता अवश्य ही मिलेगी। 

अगर आपको बिजनेस में काफी दिनों से आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है, तो आज के दिन आपको सिद्ध किया हुआ बुध यंत्र अपने कार्यस्थल पर स्थापित करना चाहिए और बुध के मंत्र का 108 बार जप करना चाहिए। बुध का मंत्र इस प्रकार है-   ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं स: बुधाय नम:। आज के दिन ऐसा करने से बिजनेस में चल रही आर्थिक समस्याओं से आपको जल्द ही छुटकारा मिलेगा। 

अगर आप अपनी बुद्धि और वाणी के बल पर दुनिया को जीतना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको पानी मे फिटकरी डाल कर नहाना चाहिए। साथ किसी मन्दिर में सवा किलो मूंग का दान करने का संकल्प लेना चाहिए और जब मौका मिले किसी धार्मिक स्थल या मंदिर में सवा किलो मूंग की दाल दान कर दें। आज के दिन ऐसा करने से आप अपनी बुद्धि और वाणी के बल पर दुनिया को जीतने में कामयाब होंगे।  अगर आप सबके दिल में अपने लिये प्यार जगाना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको मां दुर्गा के सामने घी का दीपक जलाकर सिद्धकुंजिका स्तोत्र की इन पंक्तियों का 11 बार जप करना चाहिए। सिद्धकुंजिका स्तोत्र की पंक्तियाँ इस प्रकार है–
ऐंकारी सृष्टीरूपायै हृींकारी प्रतिपालिका ।
क्लींकारी कामरूपिण्यै बीजरूपे नमोऽतु ते ।।
आज के दिन ऐसा करने से सबके दिल में आपके लिये प्यार जागेगा। 

अगर आप अपने काम पर शत्रुओं का प्रभाव नहीं पड़ने देना चाहते हैं, तो आज के दिन आपको अपनी बहन या बेटी को हरे रंग की ड्रेस या हरे रंग का रूमाल गिफ्ट करना चाहिए। साथ ही उनका आशीर्वाद लेना चाहिए।  आज के दिन ऐसा करने से आपके काम पर शत्रुओं का प्रभाव नहीं पड़ेगा। 

अगर आपके घर में किसी प्रकार की निगेटिविटी बनी हुई है, तो आज के दिन एक गोबर का उपला लेकर, उस पर यह मंत्र पढ़ कर उस पर एक कपूर और 6 लौंग जलाएं और उसकी धूप पूरे घर में दिखाएं। मंत्र है-
जय त्वं देवी चामुंडे जय भूतार्ति हारिणी,
जय सर्व गते देवी काल रात्रि नमोस्तु ते।

आज के दिन ऐसा करने से आपके घर से निगेटिविटी दूर होगी।

अगर लोग आपकी बात सुनते ही नहीं हैं तो लोगों को अपनी बातों से, अपने विचारों से प्रभावित करने के लिये आज के दिन आपको किसी किन्नर को हाथ जोड़कर प्रणाम करना चाहिए अगर ऐसा संभव ना हो तो दोनों हाथ जोड़कर मन में ही प्रणाम कर सकते है।  आज के ऐसा करने से दूसरे लोग आपकी बातों को सुनेंगे। 

अगर आपकी संतान अपना खुद का कोई बिजनेस खोलना चाहती है या आप उसकाबिजनेस खुलवाना चाहते हैं, संतान के अंदर बिजनेस की समझ डेवलप करने के लिये आज के दिन आपको साफ, शुद्ध मिट्टी लेनी चाहिए। अब उस मिट्टी को पानी की सहायता से गाढा करके उससे 27 छोटी-छोटी गोलियां बनाएं और उन्हें अच्छे से सुखा लें। अब उन गोलियों को आज से लेकर अगले 27 दिनों तक एक-एक करके अपनी संतान के हाथों से घर के मन्दिर में ही रखवाएं और बाद में जब मौका मिले उन गोलियों को किसी मंदिर या पेड़
के पास रख दें। आज के दिन ऐसा करने से आपके संतान का बौद्धिक विकास होगा। साथ ही वे अपना व्यवसाय करने में सफल होंगे। 

अगर आप जीवन में अपनी तरक्की सुनिश्चित करना चाहते हैं तो अपनी तरक्की सुनिश्चित करने के लिये आज के दिन आपको एक तांबे का छोटा-सा चौकोर टुकड़ा लेना चाहिए और उस टुकड़े के बीच में एक छोटा-सा छेद करके उस छेद में एक सफेद रंग का धागा पिरोइये और उस तांबे के टुकड़े को अपने गले में धारण कीजिये। आज के दिन गले में तांबे का टुकड़ा धारण करने से जीवन में आपकी तरक्की सुनिश्चित होगी।

अगर आपके ऑफिस में पैसों को लेकर परिस्थितियां कुछ ठीक नहीं चल रही है तो उन परिस्थितियों को ठीक करने के लिये आज के दिन आपको मन में ये भाव रखकर की मंदिर में आप पाँच प्रकार के फूल अर्पित कर रहे है, शांति पूर्वक मौन होकर बीस मिनट बैठिए| आज के दिन ऐसा करने से आपके ऑफिस में पैसों को लेकर चल रही खराब परिस्थितियां जल्द ही ठीक होगी।