विष्णु पुराण: राह चलते दिखें ये 5 चीजें तो तुरंत बना लें दूरी, मानी जाती है अपवित्र

हिंदू धर्म के कई ऐसे ग्रंथ हैं जिनमें लाइफ मैनेजमेंट को लेकर विस्तार से बताया गया है। इन्हीं में से एक है विष्णु पुराण। इस पुराण की रचना श्री पराशर ऋषि ने की थी। जिसमें देवी-देवताओं से लेकर भूत, भविष्य के बारे में काफी कुछ बताया हया है।

astrologi report

विष्णु पुराण में कुछ ऐसे नियमों के बारे में बताया गया है। जिन्हें करने से आने वाले समय में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। विष्णु पुराण में ऐसे ही कुछ चीजों के बारे में बताया है जिन्हें राह चलते दिखे तो तुंरत दूर हो जाना चाहिए। क्योंकि इन चीजों का अशुभ फल आपके ऊपर पड़ सकता है।

स्नान के बाद फैला पानी

कई लोगों की आदत होती हैं कि रास्ते में ही नहा लेते है। अगर आपको राह चलते स्नान के बाद फैला हुआ पानी दिखाई दे रहा है तो उससे दूर होकर रास्ता पार करना चाहिए। क्योंकि यह पानी गंदा और अपवित्र होता है। इससे संपर्क में आने से आप अपवित्र हो सकते हैं।

अस्थियां

रोड पर अधिकतर दुर्घटनाएं होती रहती हैं और इन एक्सीडेंट में जानवर आदि मर जाते है जिनकी अस्थियां रोड में ही बिखरी पड़ी रहती है। अगर आपको मृत प्राणी की अस्थियां नजर दिखाई देती है तो दूर होकर रास्ता मार करे। विष्णु पुराण में माना जाता है ति मृत प्राणी के संपर्क में आने से हम अपवित्र हो जाते हैं। जिसतरह किसी शव यात्रा में शामिल होने के बाद तुरंत स्नान करना अनिवार्य माना जाता है।

कांटें

आमतौर पर अगर रास्ते में कांटे दिखाई दे तो इनसे दूर होकर निकलना चाहिए। क्योंकि पैर में यह कांटे चुभ सकते हैं। जिसके कारण आपको चोट लग सकती हैं। हो सके तो इन कांटों को किनारे कर दें जिससे दूसरे व्यक्ति को परेशानी न हो।

भस्म

हवन-यज्ञ की भस्म काफी पवित्र मानी जाती है। अगर आपको राहत चलते कहीं दिखाई दें तो थोड़ा हटकर निकले। क्योंकि पवित्र भस्म में पैर लगना अशुभ माना जाता है।

अपवित्र वस्तु

अगर आप पूजा-पाठ या कोई शुभ काम करने जा रहे हैं तो अपवित्र वस्तुओं से दूरी बनाकर निकले। जिससे आप अशुद्ध न हो।

कांटें

आमतौर पर अगर रास्ते में कांटे दिखाई दे तो इनसे दूर होकर निकलना चाहिए। क्योंकि पैर में यह कांटे चुभ सकते हैं। जिसके कारण आपको चोट लग सकती हैं। हो सके तो इन कांटों को किनारे कर दें जिससे दूसरे व्यक्ति को परेशानी न हो।

rgyan app

भस्म

हवन-यज्ञ की भस्म काफी पवित्र मानी जाती है। अगर आपको राहत चलते कहीं दिखाई दें तो थोड़ा हटकर निकले। क्योंकि पवित्र भस्म में पैर लगना अशुभ माना जाता है।

अपवित्र वस्तु

अगर आप पूजा-पाठ या कोई शुभ काम करने जा रहे हैं तो अपवित्र वस्तुओं से दूरी बनाकर निकले। जिससे आप अशुद्ध न हो। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखVastu Tips: डाइनिंग रूम में बड़ा शीशा लगाना भाग्य के लिए होता है शुभ, वास्तु दोष दूर होने के साथ होते हैं ये अचूक लाभ
अगला लेखDream Interpretation: सामुद्रिक शास्त्र में अशुभ माने जाते हैं ये 4 सपने, जानें क्या है मान्यता