Chaitra Navratri 2022: आलू-तेल के बिना रखें इस बार के नवरात्रि व्रत, वेट लॉस का प्रण भी होगा पूरा

नवरात्रि का पावन पर्व 2 अप्रैल से शुरू होने जा रहा है। इसमें 9 दिन देवी शक्ति के 9 अवतार की पूजा की जाती है। इस दौरान माता के भक्त 9 दिन का व्रत रखते हैं। जहां कई लोग धार्मिक कारणों से उपवास रखते हैं, वहीं कई लोग ऐसे होते हैं जो अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए भी ये व्रत रखते हैं। कई लोग मानते हैं कि वो 9 दिन उपवास रखकर अपना बढ़ा हुआ वजन कंट्रोल कर सकते हैं। मगर फिर व्रत के दौरान आलू और तेल से बनी अनहेल्दी चीजें खाकर अपना वजन और बढ़ा लेते हैं। या फिर वो इतने कमजोर हो जाते हैं कि कोई और काम करने की हिम्मत नहीं होती है। जबकि अगर सही तरीके से फास्टिंग की जाए तो आप ना सिर्फ अपना वजन घटाने में कामयाब होंगे, बल्कि आप एनर्जी से भरपूर भी महसूस करेंगे।

उपवास के फायदे

उपवास रखने के सिर्फ धार्मिक नहीं बल्कि वैज्ञानिक कारण भी हैं। नवरात्रि साल में दो बार मनाई जाती है- मार्च-अप्रैल और सितंबर-अक्टूबर। ये ऐसा समय होता है जब हमारी इम्यूनिटी मौसम के बदलाव की वजह से कमजोर होती है और लोग तमाम बीमारियों की चपेट में आ जाते हैं। इस वजह से इस दौरान सात्विक भोजन करने से इन समस्याओं से निपटने में आसानी होती है। आजकल तो लोग उपवास का महत्व समझते हैं इसलिए इंटरमिटेंट फास्टिंग ट्रेंड में है। यदि आप इस नवरात्रि का व्रत करने की योजना बना रहे हैं, तो यहां कुछ ऐसे टिप्स दिए गए हैं जिसकी मदद से आप अपने फास्ट को हेल्दी बना सकते हैं और फिट भी हो सकते हैं।

तले हुए स्नैक्स से रहें दूर

कई लोग कहने के लिए तो व्रत रख लेते हैं, मगर फ्राइड आलू, चिप्स और रेडीमेड स्नैक्स का अधिक मात्रा में सेवन करके अपने स्वास्थ्य का भी नुकसान करते हैं और वजन भी बढ़ा लेते हैं। तले हुए स्नैक्स खाने से उपवास का उद्देश्य तो खत्म हो जाता है। इसलिए इन खाद्य पदार्थों को कम मात्रा में शामिल करें और रेडीमेड तले हुए स्नैक्स को खाने से बचें।

ताजे फल का सेवन करें

ऊर्जावान रहने के लिए दिन में ढेर सारे फल जैसे पपीता, केला या सेब खाएं। ये ना सिर्फ आपको ऊर्जा देंगे बल्कि तमाम तरह के विटामिन्स और मिनरल्स भी इसमें होते हैं जो आपकी सेहत को फायदा पहुंचाते हैं।

हाइड्रेटेड रहना

व्रत में हाइड्रेट रखना बहुत जरूरी है। इस दौरान आप पानी, जूस, छाछ, लस्सी, सब्जियों के सूप का सेवन करें। इससे आपका शरीर भी हाइड्रेट रहेगा और हेल्दी भी रहेगा।

ज्यादा भूख लगे तो खाए मेवे

व्रत के दौरान अगर आपको ज्यादा भूख लगे तो आप भूख से बचने के लिए मेवे का सेवन भी कर सतके हैं। इस दौरान काजू, बादाम, अंजीर, खजूर आदि का सेवन करें। हालांकि इनका सेवन सीमित मात्रा में ही करें।

फाइबर युक्त खाद्य पदार्थ खाएं

अपने नवरात्रि के मेनू में फाइबर युक्त खाद्य पदार्थों को शामिल करें। अपनी भूख को शांत करने के लिए अपने मेनू में ढेर सारी हरी सब्जियां जैसे शकरकंद, कच्चा केला, लौकी और कद्दू शामिल करें। इसका कारण यह है कि फाइबर को पचने में काफी समय लगता है, जिससे आपका पेट लंबे समय तक भरा रहता है और आपकी भूख पर भी अंकुश लगता है। रेशेदार खाद्य पदार्थ आपका ब्लड शुगर भी मेंटेन रखते हैं।

कई तरह के आटे का प्रयोग करें

नवरात्रि में कुट्टू के आटे का इस्तेमाल होता है, लेकिन आप समो चावल (समक चावल) का इस्तेमाल भी चपाती या दलिया बनाने के लिए कर सकते हैं। हां इनकी पूरियां ना तलें बल्कि रोटी के तौर पर खाएं। आप इसमें सब्जियां मिलाकर कम घी के साथ पराठे भी बना सकते हैं। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट और अन्य महत्वपूर्ण पोषक तत्व होते हैं।

एक वक्त करें भोजन

आप दिन भर भले ही फलाहार पर रह लें लेकिन रात को व्रत में खाए जाने वाले अनाज का सेवन करें जिसे कम घी में बनाया गया हो। इससे आपकी ऊर्जा बनी रहेगी।

शुगर से ब्रेक लें

नवरात्रि में मीठा कम खाएं, व्रत का खाना बनाने के चक्कर में अधिक मीठा ना खाएं। चीनी स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती है और ये आपका वजन बढ़ा सकती है।

रात को दूध लें

रात को सोने से पहले अगर आप एक गिलास दूध पीकर सोते हैं, तो नींद भी अच्छी आती है और भूख भी नहीं लगती है। दूध को संपूरक आहार कहा जाता है क्योंकि उसमें कई विटामिन्स और मिनरल्स होते हैं, साथ ही प्रोटीन और कैल्शियम भी पाया जाता है। अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतwww.indiatv.in
पिछला लेखवास्तु टिप्स: पति-पत्नी के बीच होने वाले झगड़ों को कम कर सकता है नमक, जानिए कैसे
अगला लेखWell in Dream: सपने में भरा हुआ कुआं देखने का मतलब क्या होता है? जानें