तकिया भी डाल सकता है आपके आराम में खलल, जानें कैसे और क्यों?

अपने फेवरेट पिलो (Pillow) यानी तकिए के लिए कभी न कभी आपने भी पिलो फाइट की ही होगी,लेकिन जब रातभर इसी तकिए पर सिर रखकर सोने के बाद सुबह आपको थकावट महसूस होती है, तो समझ लीजिए अब इसकी उम्र हो चुकी है और इसे बदलने (Replace) का वक्त आ गया है. तकिए का असली काम सोते वक्त गर्दन को सहारा देते हुए शरीर का पोश्चर सही बनाए रखना है. यह सोते वक्त स्पाइनल एलाइनमेंट (spinal alignment) सही रखता है. पुराने और खराब क्वालिटी के तकिए के इस्तेमाल से मसल्स पेन भी हो सकता है.ऐसे में आपके लिए तकिया खरीदने से लेकर उसे कब रिटायर करना चाहिए इन सब बातों के बारे में जानना जरूरी हो जाता है. हम यहां आज यही बताने जा रहे हैं कि तकिए को कब कह दें अलविदा.

Ask-a-Question-with-our-Expert-Astrologer-min

कब कहें अलविदाः

जब आपको तकिए पर सिर रखते ही ऐसा लगने लगे कि इसमें गांठ जैसा कुछ चुभ रहा है. या फिर तकिया उठाते ही उसके अंदर भरी रूई या फॉम एक तरफ सरकने लगें. तकिए के इस्तेमाल से पहले उसे शेप में लाने की जरूरत महसूस हो तो समझ जाएं कि तकिया दम तोड़ने लगा है. इस तरह का तकिए लगाकर आप विशेष तौर पर सुबह गर्दन या कंधों में दर्द के साथ उठते हैं, तो इस खराब तकिए को तुरंत बदल डालें. आपको कई तरह के शैप (Shape) के तकिए बाजार में मिल जाएंगे, लेकिन खरीदें वही जो आपको चैन की नींद देने में मददगार हो.

जी हां तकिया भी उम्रदराज होता हैः

आपको ये जानकार हैरानी होगी कि तकिए की भी अपनी एक उम्र होती है. मसलन कोई भी तकिया औसतन 18 से 24 महीने तक ही काम दे सकता है, इसलिए हर दो साल में तकिए को जरूर बदल लेना चाहिए.

टेस्ट से जाने तकिए का हालः

अगर आपको ये समझ नहीं आ रहा है कि आपको अपना फेवरेट तकिया फेंकना चाहिए या अभी और चलाना चाहिए तो इसका हाल जानने के लिए एक सिंपल सा टेस्ट करें. मुश्किल से 30 सेकेंड का ये टेस्ट आपको तकिए की तबियत बता देगा. इसके लिए तकिए को बीचों बीच से मोड़ें और 30 सेकेंड्स तक दबाकर छोड़ दें. अगर तकिया दोबारा से अपने पुराने शैप नहीं आता, तो समझ जाएं कि आपको अपना तकिया बदलने की जरूरत है.

rgyan app

ऐसा हो तकियाः

तकिया ऐसा होना चाहिए जिससे आपकी रीढ़ की हड्डी सही स्थिति में रहें जो सोते वक्त आपकी पीठ और गर्दन दोनों को सहारा दे. बेहद कठोर, नरम या बहुत लंबे शैप के तकिए लगाने से बचना चाहिए.इस तरह के तकिए आपकी गर्दन को विषम स्थिति में डालकर आपकी पीठ और गर्दन में दर्द की वजह बन सकता हैं. तकिया ऐसा होना चाहिए जो आपके सिर को थोड़ा ऊंचा रखते हुए आपकी गर्दन,पीठ, सिर और कंधों को सपोर्ट दे. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here