जानें पूजा के समय नारियल फोड़ना क्यों शुभ माना जाता है

हिन्दू धर्म (Hinduism) में पूजा-पाठ का विशेष महत्व है, और पूजा में चढ़ाये जाने वाले फलों का भी विशेष महत्व है. इन्हीं में से एक फल है नारियल (Coconut). पूजा के दौरान नारियल चढ़ाना शुभ माना जाता है. हिन्दू धर्म में कोई भी पूजा बिना नारियल के नहीं होती है. शास्त्रों में नारियल को तीनों देवताओं का प्रतीक माना जाता है. वास्तुशास्त्र में भी नारियल के महत्व को बताया गया है. घर में नारियल का पानी छिड़कने से नकारात्मक ऊर्जा (Negative Energy) नहीं आती और घर का वास्तुदोष भी दूर होता है. भारत में हिन्दू लोग किसी भी शुभ काम को करने से पहले नारियल को फोड़ते हैं. ऐसा माना जाता है कि नारियल फोड़ने से कार्य में किसी भी प्रकार की परेशानी नहीं आती और किए गए काम में सफलता मिलती है.

पौराणिक कथा के अनुसार

पौराणिक हिन्दू कथाओं में एक वर्णन मिलता है. जब भगवान विष्णु धरती पर आए थे तब वे मानव जाती के उत्थान के लिए अपने साथ माता लक्ष्मी, नारियल का पेड़ और कामधेनु गाय लाए थे. ऐसा भी माना जाता है कि नारियल के पेड़ में तीनों देवों ब्रम्हा, विष्णु, महेश का वास होता है. इसीलिए पूजा-पाठ में नारियल फोड़ना और चढ़ाना शुभ माना जाता है. मान्यता यह भी है कि एक समय हिन्दू धर्म में मानव और जानवरों की बलि एक समान मानी जाती थी. इसी परंपरा को तोड़ने के लिए नारियल चढ़ाने की प्रथा की शुरुआत हुई.

नारियल को हिन्दू धर्म में शुभ और मंगलकारी माना जाता है. नारियल के बाहरी खोल की तुलना इंसान के अहंकार से की जाती है और अंदर की सफेद, नर्म सतह को शांति का प्रतीक माना जाता है, और पूजा-पाठ में नारियल चढ़ाने का एक भाव यह होता है कि हमने अपने आप को भगवान के श्री चरणों में समर्पित कर दिया है. ऐसी मान्यता है कि पूजा-पाठ में नारियल चढ़ाने से धन संबंधी सभी परेशानियां दूर होती हैं.

श्रीफल या नारियल को बीज रूप माना जाता है. इसलिए नारियल को प्रजनन या उत्पादन का कारक माना गया है. महिलाएं भी बीज रूप में ही बच्चों को जन्म देती हैं. इसी कारण से हिन्दू धर्म में महिलाओं का नारियल फोड़ना निषेध माना गया है. पूजा पाठ में अक्सर हमने देखा होगा नारियल पुरुष ही फोड़ते है क्योंकि नारियल फोड़ना महिलाओं के लिए अशुभ माना जाता है. अन्य खबरों के लिए इस लिंक पर क्लिक करें

स्रोतindia.news18.com
पिछला लेखVastu Tips: पूर्व दिशा में खिड़की बनवाने के क्या हैं फायदे? जानिए
अगला लेखआयशर मोटर्स का स्टॉक 3 रुपये से बढ़कर हुआ 2,618 रुपये का, 10000 बन गए 82 लाख, क्या आपके पास है?