स्वामी रामदेव से जानते हैं बच्चों की एकाग्रता बढ़ाने का तरीका

yoga tips for child by baba ramdev

बच्चों में एकाग्रता की कमी पैरेंट्स के साथ-साथ टीचरों द्वारा की जाने वाली एक आम शिकायत हैं। अधिकतर बच्चों को समस्या होती है कि उनका पढ़ने-लिखने का मन नहीं करता है। इतना ही नहीं कई बच्चों को कुछ देर बाद याद किया हुई विषय भूलने की समस्या होती है। जिससे अधिकतर माता-पिता परेशान रहते हैं। 

स्वामी रामदेव (Swami Ramdev) के अनुसार बच्‍चों की एकाग्रता (Concentration) बढ़ाने के लिए सबसे पहले प्राणायाम करना चाहिए। इसमें कपालभाति, अनुलोम-विलोम, भस्त्रिका, सूर्य नमस्कार के साथ-साथ सूक्ष्म व्यायाम करना चाहिए। ये सभी योग कम से कम 5-10 मिनट कराएं।

यह भी पढ़े: 22 April World Earth Day: मनाने का कारण, थीम, साथ ही जानें कोरोना वायरस के बीच…

 एक्रागता बढ़ाने के लिए योगासन (Yoga)

  • वृक्षासन- इस आसन को करने से बच्चों की एक्रागता बढेगी। इसके साथ ही पैर की मांसपेशियां मजबूत होगी और तनाव से मुक्ति मिलगी। 
  • गरुड़ासन-  रोजाना इस आसन को सुबह करने से एकाग्रता बढ़ती है। जिससे आप हर एक चीज ध्यान लगाकर कर पाएंगे।  
  • टराजासन- यह आसन शरीर के बैलेंस बनाने के साथ-साथ एक्रागता बढ़ाने में मदद करता है। इसके साथ ही थाई-हिप्स आदि को मजबूत करता है।
  • पक्षी आसन- पक्षी आसन में बैठकर पूरे शरीर से जमीन को छुआ जाता है, इसलिए इसे पक्षी आसन कहते हैं। इस आसन को करने से एकाग्रता बढ़ती है। 
  • तितली आसन- इस आसन को बच्चें आसानी से कर सकते हैं। इससे मांसपेशियां मजबूत होने के साथ-साथ एकाग्रता बढ़ती है। 

एक्रागता बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय

  • 2-3 बादाम, अखरोट रात में भिगोकर सुबर पीसकर दूध के साथ दें।
  • 3-4 बादाम, 3-4 अखरोट, भ्रामरी, शखपुंरी, ज्योतिषमती, माल कांगनी पीस कर दूध के साथ दें। 
  • बादाम रोगन आधा चम्मच छोटे बच्चों को और बड़े बच्चों को 1 चम्मच दूध के साथ दें। 
  • भ्रामरी, शखपुंरी, ज्योतिषमती, माल कांगनी नहीं मिल रही है तो  मेधावटी 1-1 गोली सुबह-शाम खिलाएं।​